देवांजन के पीछे कौन ? सीएम कड़ी से कड़ी कार्रवाई के मूड में

सन्मार्ग संवाददाता
काेलकाता : बंगाल में नकली वैक्सीन फर्जीवाड़ाकांड ने पूरे देश को चौका दिया है। इसका कारण यह है कि इसका मुख्य अभियुक्त देवांजन देव कोई सामान्य पद पर नहीं बल्कि खुद आईएएस ऑफिसर और केएमसी का संयुक्त आयुक्त बताया था। ये दोनों ही पद प्रशासनिक स्तर पर बेहद ही अहम है। अभी तक खुलासा हुआ है इन दोनों ही पदों का रुतबा दिखाकर देवांजन ने कारनामों को अंजाम दिया। अब सवाल यह उठ रहा है कि आखिर नकली आईएएस व निगम का अधिकारी बनकर उक्त घटना को अंजाम देना क्या यह सब अकेले देवांजन देव के दिमाग की उपज थी या फिर इसके पीछे कोई बड़ा हाथ है ? इसके तह तक जाने के लिए नवान्न की तरफ से हरी झंडी दिखा दी गयी है। सीएम ममता बनर्जी इस मामले पर बेहद ही गंभीर है। सूत्रों के मुताबिक सीएम ने कड़ी से कड़ी कार्रवाई के मूड में है। इससे पीछे चाहे जो भी हो, उससे नहीं छोड़ा जाये इसका भी उन्होंने कड़े निर्देश दिया है। सीएम ने इस संबंध में कोलकाता पुलिस कमिश्नर सौमेन मित्रा को भी फोन किया है तथा अभी तक का पूरा अपटेड उन्होंने लिया है। बता दें कि देवांजन और उसके सहयोगियों के खिलाफ धारा 307 जोड़ा गया है। वहीं नकली वैक्सीन इंजेक्ट से अभी तक कई लोगों के बीमार होने की खबर है। इसमें मुख्य नाम सांसद मिमी चक्रवर्ती का भी शामिल है।
सरकारी स्टैंप से लेकर कई दस्तावेज उठा रहे हैं सवाल
जैसा कि देवांजन ने कई सरकारी स्टैंप मिले है। कई ऐसे दस्तावेज भी पाये गये है जो कि यह सवाल खड़ा कर रहा है कि क्या इसके पीछे कोई बड़ा हाथ है या फिर यह सिर्फ और सिर्फ देवांजन के खुद के दिमाग की उपज थी। बहरहाल पुलिस हर तरह से इस मामले की गहनता से जांच कर रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

हावड़ा में अवैध पार्किंग के खिलाफ सख्त होगा प्रशासन

हावड़ा डीएम कार्यालय, अस्पताल, अदालत व निगम के बाहर वाहनों की कतारें प्रशासन, निगम व पुलिस ने की बैठक, उठाये जायेंगे कड़े कदम सन्मार्ग संवाददाता हावड़ा : अवैध आगे पढ़ें »

ऊपर