आयोग का चाबुक क्या चला, नेताओं ने शुरु की आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति

election

24 घंटे के भीतर आयोग द्वारा सबसे महत्वपूर्ण ट्रांसफर
भाजपा ने की पुराने रिटायर अधिकारियों को हटाने की मांग
तृणमूल ने किया भाजपा के इशारे पर चल रहा है आयोग
कोलकाता : चुनाव की सरगर्मी तेज हो चुकी है। तारीखों का ऐलान भी हो गया है। राज्य में आदर्श आचार संहिता लागू हो चुकी है। महज 24 घंटे के भीतर इसका असर भी दिख गया। आयोग ने अपना चाबुक एंसा चलाया जिसमें सबसे महत्वपूर्ण ट्रांसफर किया गया। राज्य को शांतिपूर्ण तरीके से चलाने के लिए कानून-व्यवस्था रीढ़ की हड्डी मानी जाती है और आयोग ने एडीजी कानून-व्यवस्था का ही ट्रांसफर कर दिया। इस ट्रांसफर के साथ ही विभिन्न दलों के नेताओं की आरोप-प्रत्यारोप लगाने की राजनीति भी अब शुरु हो चुकी है। बहरहाल यह तो शुरुआत है, आयोग द्वारा अभी कई ट्रांसफर करना बाकी है। फिलहाल राज्य के एडीजी लॉ एंड आर्डर को हटाये जाने पर तृणमूल के सांसद सौगत राय ने भाजपा को ही निशाने पर लिया तथा कहा ​कि साफ दिख रहा है यह मोदी और शाह की जोड़ी का किया कराया है। सौगत ने कहा कि ममता बनर्जी ने एक दिन पहले ही कहा था कि चुनाव आयोग भाजपा के कहे अनुसार ही काम कर रही है। अब यह ट्रांसफर प्रतीत हो रहा है कि सुनियोजित है।
दूसरी तरफ कांग्रेस विधायक मनोज चक्रवर्ती ने कहा कि आयोग का दायित्व है कि राज्य में शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव कराये। ऐसी स्थिति में अगर ट्रांसफर की लाइन भी लगानी पड़े तो गलत नहीं होगा।
इधर प्रदेश भाजपा के वाइस प्रेसिडेंट जयप्रकाश मजुमदार ने इस ट्रांसफर को जायज ठहराया तथा कहा कि राज्य में हिंसा का माहौल है। चुनाव का दौर है ऐसे में शांति जरूरी है और कानून-व्यवस्था बनी रहे यह आयोग की प्राथमिकता होनी चाहिए। साथ ही उन्होंने मांग कि है राज्य सरकार ने कई रिटायर हो चुके पुराने अधिकारियों को अभी भी सरकार में रखा है। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ऐसे अधिकारियों की जरूरत नहीं है बल्कि वे एक जगह को कैप्चर किए हुए है। राज्य में युवा अधिकारियों की कमी नहीं है फिर पुराने बुजुर्ग अधिकारियों को जो ​अवकाशप्राप्त है उन्हें किसी पद पर रखने की आवश्यकता ही नहीं है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अमीर बनने के लिए सेक्स के धंधे में कूदी दो बहनें, फिर…

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे महिला गैंग को पकड़ा है जिसके निशाने पर अक्सर बुजुर्ग व्यक्ति होते थे। राजधानी दिल्ली के राजौरी गार्डन आगे पढ़ें »

वार्ड बॉय ने संक्रमित मरीज की ऑक्सीजन मशीन निकाली, बेटे के सामने तड़प-तड़पकर मौत

शिवपुरीः मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिला अस्पताल में भर्ती संक्रमित कोरोना मरीज की ऑक्सीजन मशीन वार्ड बॉय ने हटा दी। ऑक्सीजन की कमी के चलते उन्होंने आगे पढ़ें »

ऊपर