पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव

कोलकाताः चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस जारी है। इसमें 5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव का ऐलान किया जा रहा है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि पश्चिम बंगाल में 8 फेज में चुनाव होंगे। पहले फेज की वोटिंग 27 मार्च को और दूसरे फेज की 1 अप्रैल को होगी।

पश्चिम बंगाल में 27 मार्च को होगा पहले चरण का मतदान। 1 अप्रैल को होगा दूसरे चरण का मतदान। इसके बाद तीसरे चरण का मदतान 6 अप्रैल को होगा। 10 अप्रैल को चौथे चरण, 17 अप्रैल को पांचवे चरण का मतदान होगा। इसके अलावा 22 अप्रैल को 43 सीटों पर छठे चरण में होगा मतदान। सातवें चरण का मतदान 26 अप्रैल को हागा। इसके अलावा 8वें चरण का मतदान 29 अप्रैल को होगा।

बंगाल में चुनाव का शेड्यूल

पहला फेज
सीटें: 30 (पुरुलिया, बांकुड़ा, झाड़ग्राम, पश्चिम मेदिनीपुर, पूर्वी मेदिनीपुर)
अधिसूचना: 2 मार्च
नामांकन: 9 मार्च
स्क्रूटनी: 10 मार्च
नाम वापसी: 12 मार्च
वोटिंग: 27 मार्च
काउंटिंग: 2 मई

दूसरा फेज
सीटें: 30 (बांकुड़ा, पश्चिमी मेदिनीपुर, पूर्वी मेदिनीपुर, दक्षिण-24 परगना)
अधिसूचना: 5 मार्च
नामांकन: 12 मार्च
स्क्रूटनी: 15 मार्च
नाम वापसी: 17 मार्च
वोटिंग: 1 अप्रैल

तीसरा फेज (हावड़ा, हुगली, दक्षिण-24 परगना)
सीटें: 31
अधिसूचना: 12 मार्च
नामांकन: 19 मार्च
स्क्रूटनी: 20 मार्च
नाम वापसी: 22 मार्च
वोटिंग: 6 अप्रैल

चौथा फेज (हावड़ा, दक्षिण-24 परगना, हुगली, अलीपुरदुआर, कुचबिहार)
सीटें: 44
अधिसूचना: 16 मार्च
नामांकन: 23 मार्च
स्क्रूटनी: 24 मार्च
नाम वापसी: 26 मार्च
वोटिंग: 10 अप्रैल

पांचवां फेज (उत्तर-24 परगना, दार्जिलिंग, नदिया, कालिमपोंग, पूर्व वर्धमान, जलपाईगुड़ी)
सीटें: 45
अधिसूचना: 23 मार्च
नामांकन: 30 मार्च
स्क्रूटनी: 31 मार्च
नाम वापसी: 3 अप्रैल
वोटिंग: 17 अप्रैल

छठा फेज (उत्तर-24 परगना, पूर्व वर्धमान, नदिया, उत्तर दिनाजपुर)
सीटें: 43
अधिसूचना: 26 मार्च
नामांकन: 3 अप्रैल
स्क्रूटनी: 5 अप्रैल
नाम वापसी: 7 अप्रैल
वोटिंग: 22 अप्रैल

सातवां फेज (मालदह, मुर्शिदाबार, पश्चिम बर्दवान, दक्षिण कोलकाता, दक्षिण-दिनाजपुर)
सीटें: 36
अधिसूचना: 31 मार्च
नामांकन: 7 अप्रैल
स्क्रूटनी: 8 अप्रैल
नाम वापसी: 12 अप्रैल
वोटिंग: 26 अप्रैल

आठवां फेज (मालदह, बीरभूम, मुर्शिदाबाद, उत्तर कोलकाता)
सीटें: 35
अधिसूचना: 31 मार्च
नामांकन: 7 अप्रैल
स्क्रूटनी: 8 अप्रैल
नाम वापसी: 12 अप्रैल
वोटिंग: 29 अप्रैल

चुनाव आयोग ने बताया कि पश्चिम बंगाल में एक लाख से ज्यादा मतदान केंद्रों पर वोट डाले जाएंगे। कोरोना को देखते हुए सभी राज्यों में मतदान केंद्र बढ़ाए गए हैं। इसके अलावा मतदान का समय भी एक घंटा बढ़ाया गया है। कोरोना को देखते हुए सभी चुनाव अधिकारियों का टीकाकरण किया जाएगा। मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) सुनील अरोड़ा ने कहा कि पश्चिम बंगाल में 2016 में 77,413 चुनाव केंद्र थे अब 1,01,916 चुनाव केंद्र होंगे। सभी सीटों के लिए वोटो की गिनती 2 मई को होगी। चुनाव आयोग के सूत्रों के मुताबिक बंगाल में शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न कराने के लिए केंद्रीय सुरक्षा बलों की 125 कंपनियों की तैनाती की जाएगी. पश्चिम बंगाल में एक लाख से ज्यादा मतदान केंद्रों पर वोट डाले जाएंगे। कोरोना को देखते हुए सभी राज्यों में मतदान केंद्र बढ़ाए गए हैं।

इसमें सीआरपीएफ की 60 कंपनी, बीएसएफ की 25 कंपनी, एसएसबी की 30 कंपनी, सीआईएसएफ की 5 कंपनी और आईटीबीपी की 5 कंपनियां शामिल हैं।

बंगाल में विधानसभा की 294 सीटें है। पिछले चुनाव में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 211 सीटों पर जीत दर्ज की थी। दूसरे नंबर पर कांग्रेस थी, जो सिर्फ 44 सीट जीतने में कामयाब रही थी। 2016 के चुनाव में बीजेपी सिर्फ तीन सीट जीत सकी थी, लेकिन इस बार का मुकाबला टीएमसी और बीजेपी के बीच ही बताया जा रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब अनुब्रत मंडल आये आयकर के निशाने पर, अगले सप्ताह बुलाये गये

करोड़ों की बेनामी संपत्ति का आरोप कोलकाता : आयकर विभाग ने ​अगले सप्ताह तृणमूल नेता अणुव्रत मंडल को बेनामी संपत्तियों से संबंधित मामलों में नोटिस भेजी आगे पढ़ें »

vote

जंगीपुर व शमशेरगंज में मतदान तिथि बदली, अब 16 मई को मतदान

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : चुनाव आयोग ने जंगीपुर व शमशेरगंज में 13 मई को होने वाले मतदान की तिथि बदल दी है। अब यहां 16 मई आगे पढ़ें »

ऊपर