पश्चिम बंगाल जल्द बूस्टर डोज का परीक्षण करेगा

6 अस्पतालों ने जताई इच्छा
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : पश्चिम बंगाल सरकार महानगर में कोविड-19 रोधी टीके की बूस्टर खुराक का जल्द परीक्षण करने की योजना बना रही है और उसने विभिन्न चिकित्सा संस्थानों में इसकी व्यवहार्यता के परीक्षण शुरू कर दिए हैं। स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि अभी तक छह अस्पतालों ने आगे आकर परीक्षणों का हिस्सा बनने की इच्छा जतायी है। अधिकारी ने कहा, ‘‘हम शहर में व्यवहार्यता परीक्षण कर रहे हैं जहां हम बूस्टर खुराक का परीक्षण करने की योजना बना रहे हैं।’’ ‘स्कूल ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसिन’, ‘कॉलेज ऑफ मेडिसिन एंड सागर दत्त हॉस्पिटल’ और ‘नील रतन सरकार मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल’ तीन सरकारी अस्पताल हैं जिन्होंने इस संबंध में रुचि दिखायी है। अधिकारी ने कहा, ‘‘हमने भारत के दवा महानियंत्रक को भी पत्र लिखा है और सकारात्मक जवाब मिलने की उम्मीद है।’’ बूस्टर खुराक के परीक्षणों के लिए प्राथमिकता स्वास्थ्य देखभाल क्षेत्र के कर्मियों को दी जाएगी।
वरिष्ठ फीजिशियन डॉ. आर.डी.दुबे ने कहा कि देखा जा रहा है कि कोविड से बचाव के लिए वैक्सीन की दो खुराक भी नाकाफी हो रही है। ऐसे में बूस्टर डोज समय की मांग है। आवश्यकता है कि इसके लिए पर्याप्त परीक्षण करके जल्द इसकी शुरुआत कर दी जाए। इससे आम लोगों को कोविड महामारी से बचाया जा सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पुरुलिया में पिता ने बेटे की गला रेत हत्या कर दी और खुद पर भी चलाई चाकू, हुई मौत

पुरुलिया: इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है को पुरुलिया पुलिस लाइन बेलगुमा में सोमवार सुबह 1 होम गार्ड ने अपने बेटे की  गला आगे पढ़ें »

ऊपर