सुबह-सुबह शराब की दुकान के बाहर लगी लंबी लाइन, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

कोलकाताः पश्चिम बंगाल में कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए मामले को देखते हुए रविवार सुबह से 15 दिवसीय लॉकडाउन सुबह से शुरू हुआ। पश्चिम बंगाल सरकार ने शनिवार को सख्त लॉकडाउन की घोषणा की थी। लॉकडाउन की घोषणा के बाद ही शराब की दुकानों पर लंबी लाइन देखी जा रही थी। आज सुबह से भी शराब की दुकानों के बाहर लंबी लाइन देखी गई। ईएम बाईपास इलाके में पुलिस ने लोगों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया। शनिवार दोपहर पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन के घोषणा के साथ ही शहर और जिले में विभिन्न शराब की दुकानों पर भीड़ उमड़ पड़ी थी। हाथ में बैग, फेस मास्क लगाए शराब की दुकान के बाहर सैकड़ों लोग शराब खरीदने के लिए लाइन में खड़े दिखाई दिए थे। आज सुबह भी कुछ ऐसी ही तस्वीर दिखाई दी। कमलागाछी में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करनी पड़ी।

पुलिस ने किया लाठीचार्ज

कमालगाछी बाइपास पर शराब की दुकान पर शराब प्रेमियों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी थी। सुबह होते ही लोग एकत्रित होना शुरू हो गए थे। शराब की दुकान के बाहर लंबी लाइन लगा दी। बरुईपुर थाने की पुलिस मौके पर गई और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया। इस बीच पुलिस लॉकडाउन को लेकर पुलिस सख्ती बरत रही है। दक्षिण 24 परगना के बिष्णुपुर खरीबेरिया और कबरदंगा बाजार से कई लोगों गिरफ्तार किया है। चाय की कई दुकानें बंद रहीं। सुबह 10 बजे से पहले खुलने वाली मिठाई की दुकानों को भी बंद कर दिया गया है। कई लोग कोरोना के डर से सुबह के बाजार करते देखे गए और यही वजह है कि सुबह के समय राज्य के कई जगहों पर बाजार में भीड़ की तस्वीर देखी जा सकती है।

सुबह-सुबह कई बाजारों में भीड़

हालांकि बैरकपुर औद्योगिक क्षेत्र में सड़कें बंद हैं, लेकिन बाजार में खरीदारों की भीड़ उमड़ रही है। सुबह होते ही बाजारों और बाजारों में लोगों की भीड़ लग गई। बहुत से लोग चावल, दाल और अंडे को अगले कुछ दिनों तक एकत्रित कर रखना चाहते हैं। पश्चिमी मिदनापुर के घटाल में भी यही तस्वीर देखने को मिली है। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस लाठियों के साथ सड़कों पर उतर आई है और माइकिंग करते दिखाई दी।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेट कंट्रोल के साथ आपके मन को शांत रखती हैं ये पांच छोटी-छोटी बातें

कोलकाताः मन अशांत रहने का असर हमारे खाने-पीने की आदतों पर भी पड़ता है। मौजूदा समय में जिस तरह दुनिया अस्त-व्यस्तता से गुजर रही है, उसकी आगे पढ़ें »

बच्चों व महिलाओं के लिए 10 हजार बेड तैयार कर रहा स्वास्थ्य विभाग

बच्चों के लिए स्पेशल कोविड बेड हर अस्पताल में थर्ड वेव के मद्देनजर तैयारियां जोरों पर सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना वायरस महामारी के सेकंड वेव ने स्वास्थ्य आगे पढ़ें »

ऊपर