किसान कानूनों के खिलाफ पश्चिम बंगाल विधानसभा में प्रस्‍ताव पास

भाजपा विधायकों ने किया वॉकआउट 

कोलकाता : किसान बिलों को लेकर दिल्‍ली से पश्चिम बंगाल तक हंगामा मचा हुआ है। एक तरफ जहां देश भर के किसान इस बिल को किसान विरोधी बताते हुए वापस लेने की मांग कर रह हैं। वहीं, विपक्षी दल भी इस मुद्दे पर केंद्र सरकार को घेरने से पीछे नहीं हट रही है। पश्चिम बंगाल की तृणमूल सरकार केंद्रीय कृषि कानूनों को रद्द किए जाने की मांग को लेकर गुरुवार को विधानसभा में एक प्रस्ताव रखा। सदन में भारी हंगामे के बाद भाजपा विधायकों ने वाकआउट कर दिया। इसके बाद पश्चिम बंगाल विधानसभा ने तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव पारित कर दिया।
सदन में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि केंद्र को इन तीनों कानूनों को वापस ले लेना चाहिए या सत्ता छोड़ देनी चाहिए। भाजपा के विधायकों के हंगामे के बीच संसदीय कार्य मंत्री पार्थ चटर्जी ने किसान बिलों के खिलाफ प्रस्‍ताव पेश किया। इसके बाद ममता बनर्जी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इन कानूनों को निरस्त करने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलानी चाहिए। प्रस्ताव पेश किए जाने के बाद विधानसभा में भारी हंगामा हुआ। बीजेपी विधायक दल के नेता मनोज तिग्गा के नेतृत्व में पार्टी के विधायक सदन में आसन के करीब पहुंच गए और दावा किया कि तृणमूल कांग्रेस सरकार कानूनों के खिलाफ ‘भ्रामक अभियान’ चला रही है। बाद में ‘जय श्री राम’ का उद्घोष करते हुए तिग्गा के साथ पार्टी के विधायक सदन से बाहर चले गए।
दिल्ली में किसानों के बवाल पर ममता बनर्जीः किसानों को आतंकवादी बनाने में तुली भाजपा
वहीं, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, ‘हम किसान विरोधी कानूनों का विरोध करते हैं। हम इन्हें तुरंत वापस लिए जाने की मांग करते हैं। केंद्र को या तो तीनों कानूनों को वापस ले लेना चाहिए या सत्ता से हट जाना चाहिए।’ उन्होंने दावा किया कि दिल्ली पुलिस किसानों की ट्रैक्टर परेड को सही तरीके से नियंत्रित नहीं कर पाई, जिस कारण से गणतंत्र दिवस के दिन स्थिति हाथ से बाहर निकल गई। बनर्जी ने कहा, ‘इसके लिए दिल्ली पुलिस को दोष देना चाहिए। दिल्ली पुलिस क्या कर रही थी? यह खुफिया तंत्र की नाकामी है। हम किसानों को गद्दार बताया जाना बर्दाश्त नहीं करेंगे। वे इस देश की संपत्ति हैं।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

शिक्षकों ने लगा संस्था के अधिकारी पर ठगी का आरोप

कलई खुलने से बाद से अधिकारी है भूमिगत ​पीड़ितों ने किया कई जगहों पर विक्षोभ-प्रदर्शन बारासात : गरीब बच्चों के लिए एक संस्था खोलकर उनकी पढ़ाई के आगे पढ़ें »

हावड़ा में 9 नये चेहरे, क्रिकेटर मनाेज तिवारी को शिवपुर से ​मिला टिकट

80 से पार विधायकों को नहीं मिली उम्मीदवारी नये चेहरों पर है यकीन : मुख्यमंत्री हावड़ा : आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए शुक्रवार को मुख्यमंत्री व आगे पढ़ें »

ऊपर