पश्चिम बंगाल : राज्यपाल बोले- हमें एकदूसरे से असहमति जताने के शालीन तरीके सीखने चाहिए

dhankad

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने रविवार को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर अपनी राय रखी। उन्होंने कहा कि यह संविधान का सुनहरा उपहार है और इसके लिए किसी भी तरह की असहिष्‍णुता देश के लोकतांत्रिक तानेबाने को नष्ट कर सकती है। गौरतलब है कि धनखड़ की यह टिप्पणी पश्चिम बंगाल कांग्रेस प्रवक्ता सनमय बंदोपाध्याय की गिरफ्तारी के बाद आई है। तृणमूल कांग्रेस सरकार और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सोशल मीडिया पर कथित रूप से आलोचना करने के बाद बंदोपाध्याय के खिलाफ यह कार्रवाई की गई थी।

असहमति जताने के सभ्य तरीके सीखें

राज्यपाल ने किसी का नाम लिये बिना कहा, ‘‘अपने विचारों की अभिव्यक्ति संविधान का एक सुनहरा उपहार है और किसी भी रूप में इसकी असहिष्णुता लोकतंत्र के लिए विनाशकारी है। आइये एकदूसरे से असहमति जताने के सभ्य तरीके सीखें। संगठित ढांचा वाले तंत्र द्वारा असहिष्णुता बहुत ही चिंताजनक है।’’ उन्होंने किसी भी मुद्दे पर असहमति के लिए ‘‘शिष्ट तरीके’’ अपनाने की अपील की।

तृणमूल कांग्रेस से चल रहा टकराव

बता दें कि पश्चिम बंगाल के राज्यपाल के रूप में 30 जुलाई को पदभार संभालने वाले धनखड़ का तृणमूल कांग्रेस सरकार के साथ उस वक्त से टकराव चल रहा है, जब उन्होंने पिछले महीने बाबुल सुप्रियो को यादवपुर विश्वविद्यालय में आंदोलनकारी छात्रों के एक वर्ग से बचाया था, जिन्होंने केंद्रीय मंत्री को एबीवीपी के एक कार्यक्रम में जाने से रोकने की कोशिश की थी।

बंदोपाध्याय की गिरफ्तारी पर विपक्षी दलों में आक्रोश

बृहस्पतिवार को बंदोपाध्याय की गिरफ्तारी से बंगाल के सभी प्रमुख विपक्षी दलों में आक्रोश उत्पन्न हो गया। वहीं, भाजपा के कुछ नेता उनके साथ एकजुटता जाहिर करने के लिये शनिवार को उनके आवास पर गये। दूसरी तरफ लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी ने शुक्रवार को तृणमूल कांग्रेस सरकार के कदम की निंदा की थी और कहा था, ‘‘बंदोपाध्याय की गिरफ्तारी उच्च स्तर की असहिष्णुता का एक उत्कृष्ट उदाहरण है। सनमय को राज्य सरकार की आलोचना करने के लिए उनके घर से गिरफ्तार किया गया था।’’

शेयर करें

मुख्य समाचार

वनडे क्रिकेट में किसी भी स्थान पर बल्लेबाजी को तैयार : रहाणे

नयी दिल्ली : भारतीय बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे ने कहा कि उनकी अंतररात्मा की आवाज है कि वह एकदिवसीय प्रारूप में राष्ट्रीय टीम में वापसी करेंगे। आगे पढ़ें »

जरूरतमंद पूर्व खिलाड़ियों की मदद करती रहेगी सरकार : रीजिजू

नयी दिल्ली : खेलमंत्री किरेन रीजिजू ने शनिवार को कहा कि मंत्रालय जरूरतमंद पूर्व खिलाड़ियों की आर्थिक मदद करता रहेगा क्योंकि देश के लिये खेलते आगे पढ़ें »

ऊपर