बंगाल की दुर्गापूजा में बिना कटे मिलेगी बिजली

कोलकाता : राज्य के विद्युत मंत्री अरुप विश्वास ने आश्वस्त किया है कि दुर्गापूजा के दौरान राज्य में अबाध विद्युत वितरण की व्यवस्था की जाएगी। दुर्गापूजा की शुरुआत 6 अक्टूबर को महालया से होगी व 15 अक्टूबर को विजय दशमी के दिन समाप्त होगी।
विश्वास ने गुरुवार को विद्युत विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। जिसके बाद उन्होंने घोषणा की महालया के दिन से ही पूजा आयोजकों को बिजली कनेक्शन मुहैया कराया जाएगा। बैठक में यह तय किया गया कि राज्य भर में पूजा के दौरान विभाग की 2300 मोबाइल वैन उतारी जाएंगी। ये टीमें विद्युत आवश्यक्ता व सुरक्षा के मामलों में पूजा आयोजकों की मदद करेंगी। वहीं कोलकाता व आसपास के इलाकों में विद्युत वितरण करने वाली सीईएससी 170 मोबाइल वैनों के सहारे पूजा अवधि में विद्युत वितरण प्रबंधन करेगी।
विश्वास ने कहा कि विभाग पूजा आयोजकों की विद्युत आवश्यक्ताओं को पूरा करने में सक्षम है। वे विश्वास दिलाते हैं कि विद्युत मामलों में आयोजकों को पूजा के दौरान कोई समस्या नहीं होगी। उन्होंने कहा कि राज्य भर में 30 सितम्बर तक ऊर्जा सुरक्षा से जुड़े मामलों का निपटारा कर लिया जाएगा। वहीं पंचमी के दिन 10 अक्टूबर से विशेष कंट्रोल रूम शुरू कर दिए जाएंगे। जो अबाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करेंगे।
पिछले वर्ष मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पूजा कमेटियों के बिजली बिल में 50 प्रतिशत छूट की घोषणा की थी। जो वर्ष 2019 में 25 फीसदी थी। पश्चिम बंगाल में लगभग 37 हजार सामुदायिक दुर्गा पूजा का आयोजन होता है। कोलकाता में यह संख्या ढाई हजार से ज्यादा है।
राज्य के पूजा आयोजकों के प्रतिनिधि संगठन फोरम फॉर दुर्गोत्सव के महासचिच शास्वत बसु ने राज्य के विद्युत विभाग के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि हर वर्ष की तरह इस साल भी विभाग पूजा आयोजकों को अबाध विद्युत आपूर्ति कराने के प्रयास में लगा हुआ है।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

अगले 3 दिनों में कई और नेता तृणमूल में हो सकते हैं शामिल

भाजपा के शिविर में और होंगे ‘धमाके’ सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : लोकसभा सांसद बाबुल सुप्रियो ने भाजपा छोड़ तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम लिया है। आने वाले आगे पढ़ें »

ऊपर