ममता बनर्जी बोलीं- चुनाव के दौरान अगर भाजपा पैसा देती है तो उसके पीछे मत भागिए, ये पैसा…

कोलकाता: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए कैंपेन के बीच बीजेपी और टीएमसी में जुबानी जंग जारी है। आज मुख्यमंत्री और टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी ने भाजपा पर चुनाव के दौरान पैसा बांटने की कोशिश करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि चुनावों के दौरान भाजपा नेता नकदी से भरा बैग लेकर आते हैं और मतदाताओं को पैसा देते हैं लेकिन जब कोई परेशानी आती है तब वे कहीं नजर नहीं आते। ममता ने खड़गपुर की रैली में कहा, ”चुनाव के दौरान बीजेपी अगर पैसा बांटती है तो पैसे के पीछे नहीं भागें। याद रहे ये पब्लिक मनी है।” उन्होंने कहा कि परिवर्तन ममता बनर्जी का नारा है। आप ममता बनर्जी का नारा क्यों कॉपी करते है?…बंगाल जीतने के बाद हम दिल्ली आएंगे और भाजपा को हिला देंगे।”

ममता ने एक अन्य रैली में कहा कि मैं एक बाघ की तरह हूं और मैं अपना सिर नहीं झुकाऊंगी। मैं केवल जनता के सामने अपना सिर झुकाती हूं। लेकिन बीजेपी जैसी पार्टी महिलाओं, दलितों पर अत्याचार करती है। मैं उनका समर्थन नहीं करती। पश्चिम मेदिनीपुर में एक रैली को यहां संबोधित करते हुए तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ने दावा किया कि भाजपा नेता चुनाव से ठीक पहले ‘‘मतदाताओं को लुभाने और वोट हासिल करने के लिए बाहर से नकदी के साथ हेलीकॉप्टर और विमानों से यहां पहुंचते है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘तृणमूल कांग्रेस सरकार ने चक्रवात प्रभावितों के लिए हजारों करोड़ रुपये की मदद की। एक या दो अपवाद हो सकते हैं…लेकिन हम लोगों की मदद करने के लिए पहुंचे हैं, तब बीजेपी के नेता कहां थे? मानवीय संकट के समय वह हमेशा गायब रहते हैं।’’

बनर्जी ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस पश्चिम बंगाल में राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) को लागू नहीं होने देगी. उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘गणना करने वालों की यात्रा के दौरान घर पर नहीं पाये जाने पर बीजेपी मतदाताओं के नामों को हटा देगी. वे आपको (लोगों) निकाल देंगे, लेकिन हम उन्हें यहां रजिस्टर का अद्यतन करने की अनुमति नहीं देंगे। ’’

शेयर करें

मुख्य समाचार

मोदी ने केजरीवाल को टोका- परंपरा के खिलाफ काम हो रहा, केजरीवाल का जवाब- गुस्ताखी हुई तो माफी मांगता हूं

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों की शुक्रवार को हुई बैठक में अजीब वाकया सामने आया। बैठक का मुद्दा कोरोना के बिगड़ते हालात थे, लेकिन पूरी आगे पढ़ें »

’11 से 15 मई के बीच चरम पर होगी कोरोना महामारी’

नई दिल्ली : भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) के वैज्ञानिकों ने अपने गणितीय मॉडल के आधार पर अनुमान लगाया है कि भारत में कोरोना वायरस महामारी की आगे पढ़ें »

ऊपर