भाजपा ने हेस्टिंग्स से हटाया अपना कार्यालय

कोलकाताः अब दिन बदल गए हैं। हेस्टिंग्स के भाजपा कार्यालय में अब प्रदेश के नेताओं की भीड़ नहीं है। कर्मचारियों की भी भीड़ नहीं के बराबर है। बंगाल पर कब्जा करने का सपना भी 2 मई को साकार नहीं हो सका। हेस्टिंग्स में भाजपा के विशाल पार्टी कार्यालय की स्थिति अब ताराशंकर बनर्जी के ‘जलसागर’ की तरह है। आज अतीत की यादों के सिवा कुछ नहीं है। किराया भी कम नहीं है! इसलिए भाजपा नेता नौ मंजिला मकान को छोड़कर मुरलीधर सेन लेन स्थित पुराने मकान में लौट आए। चाहें खुशी का पल हो या दुख की बात हो आखिरकार इसी घर ने इतने सालों तक बंगाल में भाजपा नेताओं को आश्रय दिया है।

भाजपा ने विधानसभा चुनाव से पहले हेस्टिंग्स कार्नर में दस मंजिला मकान की पांच मंजिलें किराए पर ली थीं। यहां देर रात तक नेताओं और कार्यकर्ताओं की भीड़ उमड़ी रहती थी। चौथी मंजिल पर आईटी सेल था। पांचवी मंजिल पर पत्रकारों के बैठने की जगह। नौवीं मंजिल पर सेमिनार हॉल। सातवीं और आठवीं मंजिल पर राज्य और केंद्र के नेताओं के लिए अलग-अलग कमरे। इसके अलावा कैंटीन और सुरक्षा गार्डों के लिए अलग कमरे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

सुबह से ही दिख रहा है महानगर में गुलाब का असर

कोलकाता : मौसम विभाग की ओर से बताया गया कि म्यांमार तट पर निम्न दबाव बना है जिस कारण पश्चिम बंगाल के दक्षिणी जिलों में आगे पढ़ें »

ऊपर