बड़ी खबरः एक नजर में ऐसे समझे बंगाल के बड़े चेहरों का क्या है हाल

नंदीग्राम में शुभेंदु पर भारी पड़ीं दीदी

कोलकाताः पश्चिम बंगाल में आज विधानसभा चुनाव के नतीजे आ रहे हैं। अभी तक के रुझानों में ममता बनर्जी बनर्जी हैट्रिक लगाती नजर आ रही हैं। टीएमसी ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है और 200 से ज्यादा सीटों पर बढ़त बनाई हुई है। वहीं बीजेपी अभी 100 से कम सीटों पर ही आगे चल रही हैं। इनसब के बीच अब तक के रुझानों के मुताबिक बंगाल चुनाव में इस बार कई उलटफेर भी देखने को मिल रहा है। बंगाल की सबसे हाईप्रोफाइल सीट नंदीग्राम से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अभी आगे चल रही हैं। वहीं भाजपा के तीन सिटिंग सांसद सहित कई दलबदलू अपनी-अपनी सीटों पर पीछे चल रहे हैं।

बंगाल के बड़े चेहरे जो पीछे चल रहे

1. नंदीग्राम से बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी पीछे चल रहे हैं। हालांकि यहां कांटे की टक्कर देखने को मिल रही है। इसके पहले शुभेंदु अधिकारी आगे चल रहे थे।

2. भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी चुंचुरा सीट से पीछे चल रही हैं। वह टीएमसी उम्मीदवार से करीब 5 हजार वोटों से पीछे चल रही हैं।

3. राज्यसभा सांसद रहे स्वपन्न दास गुप्ता तारकेश्वर सीट से पीछे चल रहे हैं। वे टीएमसी उम्मीदवार से करीब 7 हजार वोटों से पीछे हैं।

4. भाजपा सांसद बाबुल सुप्रियो, टॉलीगंज सीट से पीछे चल रहे हैं। यहां टीएमसी के अरूप विश्वास करीब 14 हजार वोटों से आगे चल रहे हैं।

5. रवींद्रनाथ भट्टाचार्य सिंगुर से पीछे चल रहे हैं। रवींद्रनाथ पहले टीएमसी में थे। इस बार भाजपा से चुनाव लड़ रहे हैं।

6. क्रिकेटर से नेता बने अशोंक डिंडा भी पीछे चल रहे हैं। वे मोयना सीट से बीजेपी के उम्मीदवार हैं।

7. अभिनेता से नेता बने यश दासगुप्ता चंडी तल्ला सीट से पीछे चल रहे हैं।

8. टॉलीवुड अभिनेत्री पायल सरकार भी बेहला पूर्व से पीछे चल रही हैं। यहां से टीएमसी की रत्ना चटर्जी आगे चल रही हैं।

9. राहुल सिन्हा हाबड़ा से पीछे चल रहे हैं। राहुल सिन्हा बंगाल भाजपा के पूर्व अध्यक्ष हैं।

10. JNU प्रेसिडेंट आईशी घोष जमुरिया सीट से पीछ चल रही हैं। यहां टीएमसी उम्मीदवार और बीजेपी के बीच लड़ाई देखने को मिल रही है।

दल बदलने वालों का क्या हुआ

1. राजीव बनर्जी हावड़ा जिले के दोमजुर विधानसभा सीट से पीछे चल रहे हैं। राजीव बनर्जी पहले टीएमसी में थे। वे 2011 और 2016 में विधानसभा चुनाव जीते थे। इसी साल वे बीजेपी में शामिल हुए हैं।

2. वैशाली डालमिया बाली से पीछे चल रही हैं। इसी साल वैशाली टीएमसी से बीजेपी में शामिल हुई थीं। वे पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष जगमोहन डालमिया की बेटी है।

3. रवींद्रनाथ भट्टाचार्य सिंगुर से पीछे चल रहे हैं। वे पहले टीएमसी में थे। इस बार भाजपा से चुनाव लड़ रहे हैं।

4. दीपक हलदर डायमंड हार्बर सीट से पीछे चल रहे हैं। वे इसी साल फरवरी में टीएमसी छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं।

5.अरिंदम भट्टाचार्य जगतदल से पीछे चल रहे हैं। वे इसी साल टीएमसी छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं।

6. विश्वजीत कुंडू टीएमसी छोड़कर बीजेपी के टिकट पर कलना सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। वे करीब 6 हजार वोटों से पीछे चल रहे हैं।

7. वैशाली डालमिया बाली से पीछे चल रही हैं। वैशाली टीएमसी से बीजेपी में शामिल हुई थीं। वे पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष जगमोहन डालमिया की बेटी है।

8. दुर्गापुर पूर्व से कर्नल दीप्तांशु चौधरी पीछे चल रहे हैं। वे पहले टीएमसी में थे, अब बीजेपी में हैं।

9. मुकुल रॉय के बेटे शुभ्रांशु रॉय बीजपुर सीट से पीछे चल रहे हैं।

10. नोआपारा से बीजेपी उम्मीदवार सुनील सिंह पीछे चल रहे हैं। दो साल पहले वे टीएमसी से बीजेपी में शामिल हुए थे।

11. खड़दह सीट से बीजेपी प्रत्याशी शिलभद्र दत्ता पीछे चल रहे हैं। उन्होंने पिछले साल टीएमसी से इस्तीफा दे दिया था।

12. सन्मय बंदोपाध्याय पानीहाटी सीट से पीछे चल रहे हैं। वे कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुए हैं।

दल बदलू जो वोटरों का दिल जीतते में कामयाब दिख रहे

1. मुकुल रॉय टीएमसी छोड़कर बीजेपी से चुनाव लड़ रहे हैं। वे कृष्णानगर उत्तर सीट से करीब 8 हजार वोटों से आगे चल रहे हैं।

2. पार्थ चटर्जी, रानाघाट उत्तर पश्चिम सीट पर करीब 300 वोटों से आगे चल रहे हैं।

3. मिहिर गोस्वामी नाटाबाड़ी विधानसभा सीट से आगे चल रहे हैं। वे हाल ही में टीएमसी छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए थे।

4. सैकत पंजा, मोंटेश्वर विधानसभा सीट से आगे चल रहे हैं।

5. पंडाबेश्वर सीट से बीजेपी उम्मीदवार जितेंद्र तिवारी आगे चल रहे हैं। वे इसी साल टीएमसी छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए थे।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

अस्पतालों में नहीं मिल रहे हैं डोम

युद्धस्तर पर हो रही हैं नियुक्तियां सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस के सेकेंड वेव ने स्वास्थ्य परिसेवा की स्थिति खराब सी कर दी है। आलम आगे पढ़ें »

दो श्मशान और एक कब्रिस्तान बना रही है कोलकाता नगर निगम

कोविड शवों की बढ़ती संख्या बढ़ा रही है प्रशासन की परेशानी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे है। इस आगे पढ़ें »

ऊपर