वार्ड 25 : भाजपा सेंध लगा पायेगी या कायम रहेगी तृणमूल की सत्ता ?

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : महानगर के महासमर में वार्ड नं. 25 की अलग ही खासियत है। यहां इस बार लाख टके का सवाल ये है कि तृणमूल की जीत की परंपरा इस बार भी क्या बरकरार रहेगी ? ये सवाल सबके मन में उमड़ रहे हैं क्योंकि इस बार तृणमूल ने इस वार्ड से अपने उम्मीदवार को बदला है। तृणमूल ने इस वार्ड से तृणमूल हिन्दी सेल के उपाध्यक्ष राजेश सिन्हा को चुनावी मैदान में उतारा है जबकि भाजपा के सुनील हर्ष इस सीट से दांव आजमा रहे हैं। वहीं कांग्रेस के टिकट से विक्रम सिंह को इस वार्ड में टिकट दिया गया है। फारवर्ड ब्लॉक ने नरेश पोद्दार को इस सीट से उम्मीदवार बनाया है।
एक नजर वार्ड पर
वार्ड नं. 25 उत्तर में नंद मल्लिक लेन, पूर्व में चित्तरंजन एवेन्यू, द​क्षिण में मदन चटर्जी लेन और पश्चिम में रवींद्र सरणी तक है।
ये हैं वार्ड की मुख्य समस्याएं
इस वार्ड के कई इलाकों में जलजमाव की पुरानी समस्या है। लोगों के घरों में भी पानी घुस जाता है और कई दिनों तक निकासी नहीं हो पाती है। इसके अलावा बस्तियों की भी कई समस्याएं हैं। अतिक्रमण की समस्या भी यहां है।
वार्ड की जनता ने कहा ये
सिंघी बागान के रहने वाले इंद्र मंडल ने कहा कि तृणमूल उम्मीदवार काफी अच्छे व्यक्ति और नरम स्वभाव के हैं। सत्ताधारी पार्टी से होने के कारण उनके जीतने की भी उम्मीदें अधिक हैं। एस. सील का मानना है कि लम्बे समय के बाद वार्ड में एक व्यक्ति का आधिपत्य खत्म हुआ जो काफी अच्छा है। जैकी बसाक ने कहा​ कि तृणमूल उम्मीदवार के तौर पर इस बार नये व्यक्ति आये हैं, ये अच्छा है। कम से कम एक ही व्यक्ति का राज वार्ड में अब नहीं रहेगा। मुरारी लाल ने भी कहा कि तृणमूल उम्मीदवार का स्वभाव काफी अच्छा है। बेचू मण्डल इस बात से खुश हैं कि इस बार तृणमूल ने अपने उम्मीदवार को बदला है। राजू मण्डल ने भी एक ही बात दोहरायी और कहा कि राजेश सिन्हा के पिता अनय गोपाल सिन्हा काफी अच्छे थे। आम लोगों के साथ घुल-मिलकर रहते थे। आलोक दास ने कहा कि तृणमूल उम्मीदवार सबसे मिलते-जुलते हैं। कुछ लोगों ने भाजपा उम्मीदवार सुनील हर्ष को बेहतर उम्मीदवार बताया। सिंघी बागान की रेणु नायक ने कहा कि कांग्रेस उम्मीदवार हमारे इलाके में ही रहते हैं जिस कारण हम चाहते हैं कि वे ही जीते।
एक नजर 2015 के नतीजों पर
उम्मीदवार पार्टी प्राप्त वोट
स्मिता बख्शी तृणमूल 6,600
सुनील हर्ष भाजपा 4,464
रवि कुमार सोनकर फाब 1,244
क्या कहते हैं उम्मीदवार
राजेश सिन्हा (तृणमूल) : पार्षद का काम कभी खत्म नहीं होता क्योंकि पार्षद को अपनी सेवाएं 24*7 देती रहनी होंगी। हालांकि जो काम एकदम युद्ध स्तर पर करना जरूरी है, उसमें जलजमाव की समस्या सबसे अहम है। लोगों के मकानों व घरों के अंदर पानी घुस जाता है और कई दिनों तक निकासी नहीं हो पाती है। अगर इस वार्ड से मुझे जनता का आशीर्वाद मिलता है तो सबसे पहला काम यही करूंगा।
सुनील हर्ष (भाजपा) : मैं इस वार्ड का चप्पा – चप्पा और हर एक गली जानता हूं क्योंकि पिछले 13 वर्षों से मैं इस वार्ड में लोगों के लिए काम कर रहा हूं। इस कारण पूरी उम्मीद है कि इस बार वार्ड की जनता मुझे अपनी सेवा करने का एक मौका जरूर देगी।
विक्रम सिंह (कांग्रेस) : वार्ड में 200 से 300 परिवारों पर 2 से 3 टॉयलेट ही हैं। बस्तियों का कोई विकास नहीं हुआ है। मुझे बस्ती में हर घर में टॉयलेट बनवाना है। मेरे वार्ड के सरकारी स्कूल अब भी बंद हैं जिस कारण शिक्षा का काफी नुकसान हो रहा है। मुझे यह सब ठीक करना है।
2021 लोकसभा में वार्ड 25 के नतीजे
गत विधानसभा चुनाव में वार्ड नं. 25 से भाजपा ने बढ़त बनायी थी। भाजपा को 1729 वोटों से इस चुनाव में लीड मिली थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पिता बना हैवान: बेटी के हाथ-पैर बांध कर….

गढ़वाः जिले से एक रिश्ते को कलंकित करने वाली घटना सामने आई है, जहां एक पिता पर शराब के नशे में पुत्री के साथ दुष्कर्म आगे पढ़ें »

ऊपर