सीएम से मिलना है, साइकिल से कोलकाता आना चाहती है सायंतिका

कहा : सरकार की मदद से पढ़ रहे है, दीदी को धन्यवाद कहना है
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता/मालदह : ‘मेरी दीदी की पढ़ाई का खर्चा ममता दीदी ने दिया है। दीदी की शादी के लिए भी रुपये ममता दीदी ने ही दिये। अभी हमारी स्थिति पहले से बेहतर है। इसलिए कोलकाता जाकर मैं ममता दीदी को धन्यवाद कहना चाहती हूं।’ 8 वर्षीया सायंतिका दास ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा छात्र-छात्राओं की शिक्षा में विभिन्न सरकारी योजनाओं द्वारा जो सहयोग कर रही है उसके लिए धन्यवाद देना चाहती है। सायंतिका मालहद में रहती है और एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखती है। सरकार की तरफ से उसे सबुज साथी योजना के तहत साइकिल दी गयी है। इसी साइकिल पर सवार होकर वह मालहद से कालीघाट ममता बनर्जी के घर आना चाहती है। इसके लिए उसके बकायदा मालदह के डीएम और एसपी से चिट्ठी देकर अनुमति भी मांगी है। बताया गया है कि सांयतिका के साथ सरकारी अधिकारी भी रहेंगे सीएम आवास तक उसके साथ जाएंगे।
मालूम हो कि राज्य सरकार यहां शिक्षा के लिए सरकारी स्कूलों में यूनिफॉर्म, जूता, स्कूल बैग से लेकर साइकिल यहां तक कि छात्राओं को कन्याश्री के तहत पढ़ाई का खर्चा तक देती है।
सायंतिका मालदह के इंग्लिशबाजार के वार्ड नंबर 27 के मनस्कामना पल्ली में टाली बाड़ी में रहती है। उसके पिता प्रदीप दास पेशे से ड्राइवर हैं। सायंतिका की दो बड़ी बहनें है एक विश्वविद्यालय में पढ़ती हैं तथा दूसरी कॉलेज छात्रा हैं। छोटे से दिमाग में यह बात आयी है कि इतने गरीब परिवार से ताल्लुक रखने के बावजूद सिर्फ सरकारी योजनाओं के सहयोग की वजह से ही तीनों बहनों को आज पढ़ने का अवसर मिल रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

दुर्गापूजा से पहले नये कलेवर में सजेगा बंगाल का होम स्टे

 नजर होम स्टे पर 80% होम स्टे उत्तर बंगाल में हैं, 20% दक्षिण बंगाल में इन जगहों पर हैं होम स्टे कलिम्पोंग दार्जिलिंग कर्सियांग जलपाईगुड़ी अलीपुरदुआर का डुआर्स बांकुड़ा पुरुलिया हुगली बंगाल में होम स्टे की आगे पढ़ें »

ऊपर