वेवर स्कीम के तहत निगम के खजाने में जमा हुए 140 करोड़ रुपये

टार्गेट : 600 करोड़ रुपये से अधिक के बकाया कर की वसूली
बढ़ सकती है वेवर स्कीम के तहत आवेदन की तिथि
60 हजार लोगों ने ही अब तक किया है आवेदन
कोलकाता : कोलकाता नगर निगम ने वेवर स्कीम के तहत करदाताओं को ब्याज व जुर्माने की राशि में छूट देने की योजना जब से शुरू की है तब से करदाताओं में प्रोपर्टी टैक्स जमा देने की होड़ मची हुई है। हर कोई वेवर स्कीम के तहत टैक्स जमा देकर बकाया कर से मुक्त होना चाहता है। निगम के विभागीय सूत्रों के अनुसार अब तक लगभग 140 करोड़ से अधिक प्रोपर्टी टैक्स जमा हो चुका है। हालॉकि कोलकाता नगर निगम को उम्मीद है कि 600 करोड़ का टार्गेट केएमसी जल्द पूरा कर लेगा लेकिन वेवर स्कीम के तहत अब तक लगभग 60 हजार लोगों ने ही आवेदन किया है। जिसमें से 25 हजार लोगों ने ही वेवर स्कीम के तहत टैक्स जमा किया है। एसएससी के तहत 9 लाख लोग जुड़े हुए है जिसमें बकाया करदाता लगभग 5 लाख लोग है जो कि फिलहाल वेवर स्कीम के तहत टैक्स जमा देंगे।
टार्गेट : 600 करोड़ रुपये से अधिक के बकाया कर की वसूली
कोलकाता नगर निगम को करदाताओं से लगभग 600 करोड़ से अधिक बकाया कर की वसूली करनी है। हालांकि वेवर स्कीम के आने के बाद अब तक लगभग 140 करोड़ से अधिक बकाया कर निगम के खजाने में जमा हो चुका है। गौरतलब है कि अगले 6 महीनों तक बकायादार करदाताओं को केवल मूल राशि ही जमा करनी होगी वहीं जुर्माना व ब्याज में पूरी छूट रहेगी। उसके बाद अगले 3 महीने तक जो लोग बकाया कर जमा करेंगे उन्हें ब्याज में 60% की छूट दी जाएगी, वहीं जुर्माने में 99% छूट दी जाएगी।
बढ़ सकती है वेवर स्कीम के तहत आवेदन की तिथि
वेवर स्कीम से 600 करोड़ रुपये कोलकाता नगर निगम के खजाने में जमा होगा लेकिन जिस तरह से अब तक केवल 25 हजार करदाताओं ने टैक्स जमा दिया है। ऐसे में वेवर स्कीम का निगम का टार्गेट पूरा होना बिल्कुल असंभव है। हालांकि ऐसे कयास लगाये जा रहे है कि वेवर स्कीम में आवेदन करने के तिथि को बढ़ाया जा सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

तृणमूल के आरोपों को चुनाव आयोग ने बताया निराधार

कहा - सभी चुनाव अधिकारी तत्परता व कर्मठता से कर रहे काम हमें अपने चुनाव अधिकारियों पर पूरा भरोसा सन्मार्ग संवाददाता नई दिल्ली/कोलकाताः मुख्य निर्वाचन आयोग ने तृणमूल आगे पढ़ें »

दूसरे चरण के लिए 30 सीटों पर नामांकन शुरू

बंगाल में दूसरे चरण के चुनाव में चार जिलों की सीटें शामिल मतदान 1 अप्रैल को कोलकाताः चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल विधानसभा के दूसरे चरण के आगे पढ़ें »

ऊपर