वाेटर कार्ड तो छीन लिया, फिर भी डाला वोट

voter card

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : कहते हैं जहां चाह वहां राह। कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है कसबा में जहां एक व्यक्ति का वोटर कार्ड छीन लिया गया मगर फिर भी उन्होंने अपने लोकतांत्रिक अधिकार का इस्तेमाल किया। दरअसल, कसबा के धानकल इलाके में शनिवार को चौथे चरण के मतदान के दिन सुबह से ही उत्तेजना का माहौल था। इस इलाके में मतदाताओं को धमकाने और वोटर कार्ड छीनने के मामले सुबह से ही सामने आ रहे थे। ऐसे में सन्मार्ग की टीम ने इस इलाके का दौरा किया। यहां मतदान तो शांतिपूर्ण चल रहा था, लेकिन अजीब सी खामोशी थी।
देर रात आये बदमाश, छीन लिया वोटर कार्ड
कसबा के धानकल माठ में रहने वाले मोहन झा लगभग 16 वर्षों से यहां रहते आये हैं, लेकिन उन्होंने कहा कि ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था। उन्होंने बताया, ‘मैं लगभग 10 वर्षों से भाजपा करता आ रहा हूं, जब बिजन मुखर्जी यहां से उम्मीदवार हुए थे तो उस समय भी इसी तरह मुझे वोट देने नहीं देने गया था।’
क्या हुई थी घटना
मोहन झा ने बताया, ‘मैं भाजपा कार्यकर्ता हूं और 115 नं. बूथ पर पोलिंग एजेंट भी था। हालांकि गत गुरुवार की शाम लगभग 7 बजे कुछ तृणमूल समर्थक मेरे घर आ गये। उस समय मैं घर पर नहीं था और मेरी पत्नी व बहू घर पर मौजूद थे। उन्होंने मेरे घर वालों से कहा कि वे किसी भी हाल में वोट देने ना जाएं। धमकाने के बाद वे वापस चले गयें और फिर शुक्रवार की देर रात लगभग डेढ़ बजे कई लोग फिर घर पर आये। मैंने दरवाजा खोला तो वे हमारा वोटर कार्ड मांगने लगे। मैंने अपना वोटर कार्ड दे दिया और ये भी कहा कि मैं वोट नहीं दूंगा। हालांकि उन्होंने पत्नी का भी वोटर कार्ड ले लिया और हमें धमकाते हुए चले गये। सुबह होने के बाद मैं बूथ पर नहीं गया तो मेरे पास उम्मीदवार इंद्रनील खान का फोन आया। उनको पूरी घटना बताने के बाद पुलिस कर्मी यहां आये, लेकिन इसके बावजूद हमें वोटर कार्ड नहीं मिला। हालांकि आधार कार्ड दिखाकर हमने अपना वोट दे दिया। घटना की शिकायत भी मैंने थाने में करायी है।’ इधर, तृणमूल ने सभी आरोपों से इनकार किया है।
इलाके के लोगों ने साधी चुप्पी
इस पूरे मामले पर इलाके के लोगों ने पूरी तरह चुप्पी साध रखी थी। इलाके में एक ओर कुछ महिलाएं खड़ी थीं। जब उनसे जानने की कोशिश की गयी कि क्या हुआ था तो किसी ने कहा कि वह नहीं थी तो किसी ने कहा कि उन्हें कुछ नहीं पता। इलाके के कई लोगों से जानकारी लेने की कोशिश की गयी, लेकिन लोगों ने पूरी तरह चुप्पी साध रखी थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पुरुष खिलाड़ियों का पता पूछ कर कोरोना टेस्ट करा रहा बोर्ड

नई दिल्लीः भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) का पुरुषवादी रवैया सामने आया है। भारत की पुरुष और महिला दोनों टीमों को इंग्लैंड दौरे पर जाना आगे पढ़ें »

OMG तो इसलिये कोविड पॉजिटिव ने एक पेड़ पर बिताए 11 दिन

हैदराबाद: तेलंगाना में एक 18 साल के युवक का कोविड परीक्षण पॉजिटिव आने के बाद उसने एक पेड़ पर 11 दिन बिताए क्योंकि वह अपने छोटे आगे पढ़ें »

ऊपर