कोलकाता मेट्रो के बेड़े में शामिल होंगी चीन में बनी गाड़ियां

metro

कोलकाता : कोलकाता मेट्रो अब अपने बेड़े में चीन में बनी गाड़ियों को शामिल करने जा रहा है। जानकारी के अनुसार, इन चीनी गाड़ियों के ट्रायल चल रहे हैं। एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि इस कदम का उद्देश्य पुराने बेड़े को चरणबद्ध तरीके से हटाना है। उन्होंने कहा कि अब तक कोलकाता मेट्रो में वे गाड़ियां चल रही हैं जिन्हें साल 1984 में खरीदा गया था। अधिकारी ने यह भी बताया कि पिछले वर्ष भारत में निर्मित पांच गाड़ियों का भी संचालन शुरू किया गया था। ये गाड़ियां पेरम्बुर में इंटिग्रल कोच फैक्टरी में बनीं थी।

2020 तक एयर कंडिशंड कोचों का संचालन की योजना

कोलकाता मेट्रो के 27.2 किलोमीटर लंबे नोआपाड़ा से कवि सुभाष मार्ग पर प्रतिदिन औसतन 22 से 24 गाड़ियां चलती हैं। अधिकारी ने बताया कि ‘फेरे बढ़ाने के लिए कोलकाता मेट्रो ने विभिन्न निर्माताओं से 40 एयरकंडिशन गाड़ियां मंगवाई है।’ मेट्रो की प्रवक्ता इंद्राणी बनर्जी ने कहा कि कोलकाता मेट्रो की योजना 2020 तक केवल एयर कंडिशंड कोचों का संचालन करने की है। कोलकाता मेट्रो में कुछ बोगियां तो बेहद पुरानी है जब यह मेट्रो सेवा प्रारंभ हुई थी। 26 बोगियां जो संचालन में है उनमें से 13 पुरानी है और बिना एसी वाली हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आयुर्वेदिक स्प्रे से केएमसी कोरोना के रेड जोन को तब्दील कर रहा है ग्रीन जोन में

केएमसी ने लिया 'वंडर स्प्रे 'का सहारा, राजाबाजार व बेलगछिया में मिली सफलता  सिंकी सिंह, कोलकाता : कोलकाता में कोरोना वायरस का मीटर तेजी से बढ़ आगे पढ़ें »

पीएमओ से बंगाल सरकार को मिला पत्र, 1 जून से शत प्रतिशत कर्मचारी जूट मिलों में करेंगे काम

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि राज्य सरकार ने जूट मिलों को एक जून से 100 प्रतिशत कर्मचारियों के आगे पढ़ें »

ऊपर