सब्जियों और फलों के दाम में लगातार उछाल जारी

नींबू के दाम में आई तेजी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : गर्मी बढ़ने के साथ ही सब्जियों और फलों के दाम में भी लगातार उछाल आ रहे हैं। वहीं नींबू के दाम में भी काफी बढ़ोतरी देखी जा रही है। किसी – किसी बाजार में तो एक नींबू सात से दस रु. प्रति पिस में बिक रही है। मंडी में सब्जी बेच रहे विक्रेताओं की माने तो कई सब्जियों के दामों में इससे भी ज्यादा उछाल आ सकता है। उनका कहना है कि कई अलग अलग सब्जियां पहले की तुलना में कम आ रही है। उल्लेखनीय है कि महंगाई पर सीएम ममता बनर्जी ने हाल में बैठक की थी। लोगों को राहत देते हुए सुफल बांग्ला स्टॉल की संख्या बढ़ाई है, जहां बाजार दर की तुलना में सस्ती सब्जियां मिलती है।
ईधन की बढ़ती कीमत ने बढ़ाई भारी परेशानी
डीजल – पेट्रोल की बढ़ती कीमतों की वजह से भी सब्जियों के दाम बढ़े हैं। इसका कारण यह है कि सब्जियों को लाने में अभी अच्छी खासी लागत होती है। सब्जियों व फलों में अधिक लागत मंडी में पहुंचाने में आ रही है। इसकी मार भी विक्रेताओं पर रहा है। फलस्वरूप लोगों के घर का बजट बिगड़ रहा है।
सप्लाई में आयी है कमी
टास्क फोर्स के सदस्य रवींद्रनाथ कोले ने बताया कि गर्मी की वजह से सब्जियों की सप्लाई कम हो रही है। माल भी काफी खराब हो गये हैं। वहीं नींबू की सप्लाई कम होने के कारण दाम में बढ़ोत्तरी है।
एक नजर सब्जियों के दामों पर (प्रति किलो)
बैगन – 70 रु.
टमाटर – 40 रु.
पटल – 50 रु.
भिंडी – 50 रु.
झींगा – 50 रु.
नींबू – 8 – 10 रु. (पीस)
(नोट : अलग – अलग बाजारों में मूल्य में अंतर संभव)
अधिकतर फलों के दाम 100 के पार
विभिन्न बाजारों में फलों के दाम में काफी बढ़ोत्तरी देखने का मिल रही है। लगभग अधिकतर फलों के दाम 100 रु. प्रति किलो के पार हो गये हैं। फलों में अनार व सेव सबसे महंगा यानी 150 से लेकर 200 रुपये प्रति किलो बिक रहे हैं। हालांकि अलग – अलग बा​जारों में दर में मामूली अंतर हो सकता है। साथ ही फलों की गुणवत्ता के आधार पर भी दाम में फर्क निश्चित है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

…पर अफसर बनने के बाद भूल जाते हैं गुरु को

हाई कोर्ट के मामलों के आईने में दिखती है गुरुओं की पीड़ा सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कबीर दास का एक दोहा है : ‘गुरु गोविन्द दोऊ खड़े आगे पढ़ें »

ऊपर