आज राज्य के 204 केंद्रों पर लगेगी कोविड की वैक्सीन

मेडिकल कॉलेज व अस्पतालों की तैयारी पूरी
सीएम कर सकती हैं उद्घाटन
कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस महामारी के बीच कोविशिल्ड वैक्सीन फ्रंट लाइनर के लिए मरहम बनकर आई है। शनिवार यानी कि 16 जनवरी से राज्य के 204 केंद्रों पर वैक्सीनेशन होगा। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों की मानें तो वैक्सीनेशन प्रक्रिया को लेकर तैयारी पूरी हो चुकी है। सुबह 10 बजे से सभी केंद्रों पर वैक्सीनेशन कार्य शुरू हो जाएगा। इसके लिए किसी प्रकार की दिक्कत न हो, पहले ही मॉडल तौर पर रिहर्सल किया जा चुका है। सूत्रों की मानें तो शनिवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी किसी एक केंद्र पर पहुंचकर वैक्सीनेशन प्रक्रिया का उद्घाटन कर सकती हैं। उल्लेखनीय है कि 12 जनवरी को राज्य में विशेष विमान से कोविशिल्ड वैक्सीन की 6.89 लाख डोज पहुंची थी। शुरुआती दौर में स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगेगी। वैक्सीन की अगली खेप राज्य में कब पहुंचेगी, इसकी सटीक जानकारी नहीं मिल सकी है। राज्य के सभी जिलों तक वैक्सीन को संबंधित वैक्सीनेशन केंद्रों पर पहुंचाया जा चुका है। स्कूल ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसीन, बेलियाघाटा आईडी हॉस्पिटल, चित्तरंजन सेवा सदन सहित कई जगहों पर भी वैक्सीन लगाई जाएगी।दिशन हॉस्पिटल में भी वैक्सीनेशन को लेकर तैयारी की गई है। इस सिलसिले में स्वास्थ्य विभाग को पसंद की अभिव्यक्ति भी बता दी गई है।
कोलकाता के कुछ केंद्रों पर वैक्सीन डोज की जानकारी
क्षेत्र- कितने लाभान्वित
एसएसकेएम- 8488
कोलकाता मेडिकल- 7201
एनआरएस- 4000
आरजी कर- 3914
नेशनल मेडिकल- 3233
तीन निजी अस्पतालों में भी वैक्सीन
महानगर के तीन निजी अस्पतालों में भी वैक्सीन लगाई जा सकती है। इसके लिए पूरी तैयारी यहां की गई है। पियरलेस हॉस्पिटल के सीईओ डॉ.एस पुरकायस्थ ने कहा कि हमारे यहां भी करीब 100 लोगों को वैक्सीन लगेगी। सुबह ही वैक्सीन पहुंचेगी। सूत्रों की मानें तो इसके अलावा अपोलो ग्लिनिगल्स हॉस्पिटल व मेडिका हॉस्पिटल में भी वैक्सीनेशन होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आजमाएं धूप के ये टोटके, सभी परेशानियां होंगी दूर

नई दिल्ली : सनातन धर्म में धूप-दीप और हवन का खास महत्व है। कई परिवार में रोजाना धूप-दीप दिखाया जाता है। कहते हैं कि धूप आगे पढ़ें »

आजमाकर देखें आटे का यह चमत्कारी उपाय, नहीं होगी धन की समस्या

कोलकाता : कोरोना वायरस के चलते यह साल पूरी तरह बाधित रहा है। काम-धंधे को छोड़कर लोग अपने घरों में बंद रहने को मजबूर हो आगे पढ़ें »

ऊपर