मृत भाजपा कार्यकर्ता का शव एनआरएस से ले जाने के दौरान हंगामा

भाजपा नेता ने होम गार्ड को जड़ा थप्पड़
दिलीप घोष ने कहा, ठीक किया
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : चुनाव बाद हिंसा में मृत भाजपा कार्यकर्ता अभिजीत सरकार का शव आखिरकार उसके परिवार को मिला। 4 महीने की लंबी लड़ाई के बाद गुरुवार को कोलकाता के एनआरएस अस्पताल के मॉर्ग से शव परिवार को मिला। हालांकि एनआरएस अस्पताल से शव लेने के दौरान पुलिस व भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच विवाद हो गया और इस दौरान दोनों में काफी धक्का-मुक्की भी हुई। आखिरकार परिवार के सदस्य व भाजपा नेता और कार्यकर्ता शव लेकर भाजपा कार्यालय की ओर रवाना हुए।
क्या हुआ मामला
गुरुवार की सुबह 11 बजे मृत भाजपा कार्यकर्ता का शव परिवार के सदस्यों को देना तय था। उसी के अनुसार अभिजीत सरकार के भाई विश्वजीत सरकार समेत परिवार के अन्य सदस्य एनआरएस अस्पताल पहुंचे। यहां भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के अलावा भाजपा नेता प्रियंका टिबड़ेवाल, शिवाजी सिंघा राय, देवदत्त माझी समेत अन्य नेता व कार्यकर्ता भी पहुंचे थे। उनका आरोप है कि परिवार के हाथों में शव सौंपने में पुलिस ने ढिलाई बरती। आरोप है कि प्रशासन द्वारा शव को हटाने की कोशिश की गयी। ऐसे में आरोप – प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया और भाजपा नेता व कार्यकर्ता पुलिस के खिलाफ मुखर हो गये। दोनों पक्षों के बीच विवाद होने लगा। भा​जपा नेता देवदत्त माझी के खिलाफ पुलिस को धक्का देने के साथ ही होमगार्ड को थप्पड़ जड़ने का आरोप है। पुलिस और भाजपा कार्यकर्ताओं में हंगामे के बीच शव को परिवार के हाथों सौंपा गया। इसके बाद शव को मुरलीधर सेन लेन स्थित प्रदेश भाजपा मुख्यालय में ले जाया गया जहां अंतिम श्रद्धांजलि के बाद केवड़ातला में शव का अंतिम संस्कार किया गया।
शव को लेकर हुई कानूनी लड़ाई
अभिजीत के शव को लेकर कई आरोपों और विवादों के बीच लगभग साढ़े 4 महीने से एनआरएस अस्पताल के मॉर्ग में अभिजीत के शव को संरक्षित रखा गया था। लंबी कानूनी लड़ाई के बाद आखिरकार शव का पोस्टमार्टम और डीएनए टेस्ट की रिपोर्ट मृतक के परिवार के हाथों दी गयी। इसके बाद शव के अंतिम संस्कार का निर्णय लिया गया।
‘होमगार्ड को थप्पड़ मारकर ठीक किया’
होमगार्ड को थप्पड़ मारे जाने पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने देवदत्त माझी का समर्थन किया। उन्होंने कहा, ‘सरकार के गाल में थप्पड़ मारना उचित है। होमगार्ड को मारकर ठीक किया गया है। सामान्य मानविकता भी नहीं है।’ वहीं थप्पड़ मारने के अभियुक्त देवदत्त माझी ने कहा कि उत्तेजना में उन्होंने क्या किया, ये याद नहीं है।
तृणमूल ने की निंदा
इधर, होमगार्ड को थप्पड़ मारे जाने की निंदा तृणमूल प्रवक्ता कुणाल घोष ने की है। उन्होंने कहा, ‘हाेम गार्ड अपनी ड्यूटी कर रहा था, इसके लिए क्यों उसे थप्पड़ खाना होगा। बेवजह भाजपा अशांति कर रही है। अभियुक्तों को सजा दी जानी चाहिये।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

जब बाहर का मौसम बहुत गर्म हो तो किस पोजीशन में करें सेक्स

कोलकाता : गर्मियों के मौसम में सेक्स करना बहुत से लोगों के लिए परेशानी बन जाता है। गर्माहट का मौसम आते ही लोग सेक्स करना आगे पढ़ें »

ऊपर