कोविशील्‍ड को यूके सरकार ने दी मान्‍यता लेकिन लंदन जाने वाले यात्री अब भी टेंशन में

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : दुर्गापूजा के दौरान कोलकाता से लंदन जाने की तैयारी कर चुके यात्री अब भी टेन्शन में हैं। हालाँकि उन्हें इस बात की ख़ुशी है कि यूके की सरकार ने कोविशील्ड वैक्सीन को मान्यता दे दी है लेकिन उन्हें यह परेशान कर रहा है कि लंदन में क्या उन्हें अब भी क्वारंटाइन रहना होगा ? उल्लेखनीय है कि यूके सरकार ने बुधवार को अपनी कोविड 19 टूर गाइडलाइन को संशोधित करते हुए कोविशील्ड वैक्सीन को ‘अधिकृत टीकों की सूची’ में मंजूरी दे दी, जिसे पहले वैध नहीं माना जाता था। हालाँकि, भारत अभी भी यूके की उन देशों की सूची में नहीं है, जिनके सार्वजनिक स्वास्थ्य निकायों को यह सुझाव देते हुए मान्यता दी गई है कि कोविशील्ड के साथ टीकाकरण करने वाले भारतीय यात्रियों को क्‍वारंटाइन के नियमों को मानना ही होगा।
क्या कहना है कोलकाता से जा रहे यात्रियों का
भवानीपुर की रहने वाली देवजानी मुखर्जी ने कहा कि उनकी बेटी लंदन में काम करती है। दुर्गा पूजा में उनका अपने पति के साथ अपनी बेटी नेहा राय मुखर्जी के पास जाने का प्लान है। उनकी बेटी लंदन में एक कॉम्पनी में फ़िनान्स में काम करती है। उनका कहना है नयी ख़बर से हम बहुत खुश हैं लेकिन क्या अब भी हमें क्वारंटाइन में रहना होगा। फ़िलहाल 10 दिनों के लिए क्वारंटाइन का नियम है। ऐसे में अगर लंदन में एक रूम में ही रहना पड़ा तो दुर्गापूजा की सारी प्लानिंग चौपट हो जाएगी। हम 20 दिन के लिए जा रहे हैं और उसमें भी अगर हम 10 दिन घर में ही रहे तो फिर क्या फ़ायदा। हम सारे टेस्ट करवाने के लिए राज़ी हैं लेकिन हमें घर में क्वारंटाइन ना किया जाए।
वहीं दमदम की रहने वाली व बंगाल चेम्बर की मीडिया प्रभारी नबोमिता दास अधिकारी ने बताया कि उनके पति शायंतन लंदन में हैं तथा वे अपने बच्चों के साथ अपने पति के पास जा रही हैं। उनका कहना है कि आज की ख़बर सुन कर बेहद खुश हूं लेकिन गाइडलाइन में क्या बदलाव आएंगे इसे जानना होगा। हम 10 अक्टूबर को जा रहे हैं। अगर हमें 10 दिनों के लिए घर में रहने बोला जाएगा तो हमारा पूजा प्लान ही बिगड़ जाएगा। मेरे बच्चे अभी ही रोने लगते है, अगर वहाँ उन्हें घूमने को नहीं मिलेगा तो वे मायूस हो जाएँगे। अभी भी हम डरे हुए हैं क्योंकि कब क्या बदलाव आ जाए कोई नहीं जानता। जब तक हम लंदन पहुँच नहीं जाते टेन्शन बना रहेगा।
ब्रिटेन सरकार ने अपनी संशोधित ट्रैवल एडवाइजरी में यह कहा है
ट्रैवेल एजेंट्स एसोसियेशन ऑफ इंडिया, ईस्ट के सेक्रेटरी व एयरकॉम ट्रैवेल्स के चेयरमैन अंजनी धानुका ने कहा कि अभी तक स्थितियाँ पूरी तरह से क्लीयर नहीं हुई है। ब्रिटेन ने कोविशील्ड वैक्सीनेशन के आधार पर उनके देश की यात्रा के लिए मंजूरी तो दे दी है, लेकिन अब वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट पर सवाल खड़े कर दिए हैं। हालांकि भारत के शीर्ष अधिकारियों ने स्पष्ट कह दिया है कि वैक्सीन सर्टिफिकेट में कहीं कोई समस्या नहीं है। ब्रिटेन की शीर्ष सलाहकारी संस्था ने ताजा गाइडलाइन में कहा है कि ब्रिटेन में सूचीबद्ध चार वैक्सीनों जैसे एस्ट्राजेनेका कोविशील्ड एक मान्यताप्राप्त वैक्सीन है, लेकिन अब वैक्सीनेशन सर्टिफिकेशन का मुद्दा अटक गया है क्योंकि इस पर डेट आउफ़ बर्थ नहीं लिखा हुआ है। उल्लेखनीय है कि वैक्सीन नीति को लेकर हुए विवाद पर सरकार ने यूके को चेताया था कि अगर मंज़ूरी नहीं मिलती है तो हम भी वैसा ही करेंगे लेकिन अब भी क्वारंटाइन का मुद्दा वैसे का वैसा ही है। आने वाले दिनों में क्या पोज़िटिव ख़बर मिलेगा, इसका इंतज़ार सभी कर रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

’70 साल से कश्मीर में लोकतंत्र परिवारवाद की गिरफ्त में था’

श्रीनगर : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह तीन दिन के जम्मू-कश्मीर दौरे पर हैं। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद केंद्र शासित प्रदेश की आगे पढ़ें »

ऊपर