ट्रकों में ओवरलोडिंग पर कसें नकेल, ट्रक संगठन ने प्रशासन से लगाई गुहार

कोलकाताः ट्रकों में ओवरलोडिंग की शिकायत तो अक्सर ही होती रही है। शिकायत के बाद कुछ समय के लिए कार्रवाई होती है, इसके बाद स्थिति फिर से जस की तस हो जाती है। इस बार ट्रक संगठन इस मुद्दे पर जोरदार आंदोलन की योजना बना रहा है। अमृत सिंह शेरगिल, उपाध्यक्ष, फेडरेशन ऑफ वेस्ट बंगाल ट्रक ऑपरेटर एसोसिएशन ने कहा कि राज्य के कई जिलों में जो गाड़ियां बालू व पत्थर लोड कर रही हैं, वह सब गाड़ियां ओवरलोड चल रही हैं। आरोप है कि सारी गाड़ियां मंथली सिस्टम पर चल रही हैं। देखा जा रहा है कि जो गाड़ी रामपुरहाट से डानकुनी का माल पत्थर लोड करके आ रही है, वह गाड़ियां लाखों का वारा न्यारा कर रही हैं। डानकुनी तक माल लाने के लिए ऐसे ही जो ट्रक राजारहाट न्यू टाउन की तरफ आ रही हैं, उसको भी हजारों रुपये लेकर छोड़ दिया जा रहा है।
हाईवे की हालत हो रही खस्ता
हालअमृत शेरगिल ने कहा कि जो गाड़ियां ओवरलोड माल लेकर आ रही हैं, उससे हाईवे नेशनल हों या स्टेट हाईवे की हालत खस्ता हो रही है। यह रास्ते काफी खराब हो रहे हैं। मुर्शिदाबाद जिले के फरक्का थाना के अंतर्गत काफी ट्रक झारखंड के साहिबगंज के बरहरवा से पत्थर लोड करके फरक्का डैम रोड एनएच-80 से आती हैं और लाल घर के नजदीक इन ट्रकों से पैसे लेकर इन्हें छोड़ दिया जाता है। आरोप है कि असामाजिक तत्व भी इसमें मिले हुए हैं। इस पर अगर गाड़ी वाले विरोध करते हैं तो उनको धमकाया जाता है। इसके अलावा जो गाड़ियां पाकुड़ से सिलीगुड़ी की तरफ माल लेकर जा रही हैं, उनको मुर्शिदाबाद, मालदह से लेकर सिलीगुड़ी व जलपाईगुड़ी तक पहुंचने के लिए जगह-जगह रास्ते में पैसे देने पड़ते हैं। मालदह जिले में सुस्तानी मोड़ इंग्लिश बाजार थाना 18 और 17 माइल मालदह टाउन थाना और गाजोल थाना में भी कुछ ऐसे ही अवैध वसूली के आरोप सामने आए हैं। आरोप है कि अंडर लोड गाड़ियों से भी पैसा वसूला जा रहा है।
मांग पूरी नहीं होने पर जोरदार आंदोलन की चेतावनी
ट्रक संगठन की ओर से इस सिलसिले में इंग्लिशबाजार थाना के आइसी को भी अवगत कराया गया है। मालदह एसपी को भी ट्रकों से अवैध वसूली व ओवरलोडिंग की जानकारी दी गई है। ट्रक संगठन का कहना है कि यदि जल्द अवैध वसूली के कारोबार को नहीं बंद किया गया तो स्थिति और भयावह होगी। साथ ही राज्य के स्टेट हाईवे व नेशनल हाई-वे की हालत अन्य भारत के राज्यों से और खस्ता हालात में चली जाएगी। राज्य के हाई-वे कई जगहों पर ओवरलोडिगं के कारण टूट चुके हैं। कई जगहों पर बड़े-बड़े गड्ढे भी हैं। गाजोल टोल टैक्स के पास और दालखोला मोड़ पर रास्तों की हालत काफी खराब है। ट्रक संगठन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भी पत्र लिखेगा। इस सिलसिले में कई मुद्दों पर पहले ही परिवहन विभाग को पत्र दिया गया है। यदि ठोस हल नहीं निकलता है, तो ट्रक संगठन आंदोलन करेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राजकोट में कोविड-19 अस्पताल में लगी आग, 6 कोरोना मरीजों की मौत, 26 झुलसे

मोदी ने दुख व्यक्त किया, रूपाणी ने चार-चार लाख रुपये मुआवजा की घोषणा की अहमदाबाद: गुजरात के राजकोट शहर में गुरुवार को देर रात निर्दिष्ट कोविड-19 आगे पढ़ें »

ट्रंप बोले- व्हाइट हाउस तब तक नहीं छोडूंगा जब तक…

वाशिंगटनः अमेरिका के निर्वतमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि तीन नवंबर को हुए राष्ट्रपति चुनाव के बाद ‘इलेक्टोरल कॉलेज’ के जो बाइडन को आगे पढ़ें »

ऊपर