कैनिंग में फायरिंग में घायल तृणमूल नेता की हुई मौत

11 लोगों को पुलिस ने लिया हिरासत में
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : कैनिंग के निकारीघाटा के में असामाजिक तत्वों की फायरिंग में घा.ल हुए तृणमूल नेता मुहर्रम शेख की रविवार को अस्पताल में मौत हो गयी। तृणमूल नेता की मौत को लेकर राजनीति शुरू हो गई है। टीएमसी इस हत्याकांड के पीछे बीजेपी का हाथ बता रही है, वहीं बीजेपी का कहना है कि यह टीएमसी के आपसी झगड़े का नतीजा है। पुलिस ने मामले की जांच के दौरान 11 लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस ने इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को खंगाला तो अभियुक्तों की तस्वीर पायी है। सीसीटीवी फुटेज में हमलावरों को हाथ में बंदूक लेकर भागता हुआ देखा गया। इस दौरान अभियुक्तों को ऑटो में सवार होकर भागते हुए देखा गया। जानकारी के अनुसार मुहर्रम करीब 7 सालों से तृणमूल कर्मी के रूप में इलाके में कार्य करता था । गत शनिवार की शाम 7:30 बजे वह अपने घर की तरफ जब लौट रहा था। तभी असामाजिक तत्वों ने उसे गोली मार दी। महले में उसे सीना, हाथ और सिर में गोली लगी। गोली मारने के बाद फरार हो गए । फायरिंग की आवाज सुनकर स्थानीय लोगों मौके पर पहुंचकर उसे उद्धार कर कैनिंग महकमा सदर अस्पताल पहुंचाया जहां पर हालत में सुधार नहीं होने पर उसे एसएसकेएम पहुंचाया रेफर किया गया। जहां पर इलाज के बाद तड़के उसकी मौत हो गई। मौत की घटना इलाके में पहुंचते ही इलाके में परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है । मृतक की पत्नी का आरोप है यह घटना टीएमसी के ही अन्य गुट रफीक शेख, मीनावारा और हाफिजुल ने घटना को अंजाम दिया है । उन्होंने हत्यारों के खिलाफ जांच की मांग कर कड़ी कार्रवाई करने की अपील कि है। कैनिंग पश्चिम के विधायक परेश रामदास ने बताया कि मुहर्रम इलाके में लोकप्रिय नेता था। इसलिए उसे कुख्यात रफीक शेख व उनके शार्गिदों ने घटना को अंजाम दिया है। घटना को लेकर उन्होंने प्रशासन से किसी भी शख्स को नहीं छोड़ने की मांग की है। अभियुक्तों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। उन्होंने बताया कि एसएसकेएम अस्पताल में मृतक की शव के पोस्टमार्टम के बाद उसी ज्ञानी पार्टी कार्यालय में ले जाया जाएगा जहां पर उन्हें श्रद्धांजलि दी जाएगी। उन्होंने बताया कि मृतक तृणमूल कार्यकर्ता बहुत ही सक्रिय तृणमूल कार्यकर्ता करता था । दूसरी तरफ कैनिंग पूर्व के विधायक शौकत मौल्ला ने बताया कि घटना का अंजाम भाजपा समर्थकों ने तृणमूल के लोकप्रिय नेता को खत्म करने के लिए हत्या की घटना अंजाम दिया है ।उन्होंने घटना की शामिल सभी अभियुक्तों की गिरफ्तारी की मांग की है। बारुइपुर पुलिस जिला के एसपी वैभव तिवारी ने बताया कि घटना में शामिल करीब 11 अभियुक्तों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है ।उन्होंने बताया कि इस घटना में इससे पहले कि गोली कांड से उससे कोई लिंक नहीं है । मुख्य अभियुक्तों की पहचान के लिए इलाके सीसीटीवी कैमरे को खंगाला जा रहा है l

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आजमगढ़ में सिंदूर दान से पहले मचला लड़के का मन, लड़की का शादी से …

आजमगढ़ः शादियों का सीजन शुरू हो गया है। इसी बीच एक शादी का आयोजन आजमगढ़ में किया गया, जहां सिंदूरदान से पहले कुछ ऐसा हुआ आगे पढ़ें »

विपक्षी एकता में पड़ी दरार! इस दल ने कांग्रेस से किया किनारा, सामने आई ये वजह

जज हत्याकांड: सीबीआई को षड्यंत्रकारी बारे में मिले अहम सुराग

त्रिपुरा में हार के बाद बोले अभिषेक ‘भाजपा ने प्रजातंत्र की हत्या की…

स्कूलों की समयावधि बढ़ाने के खिलाफ राजभवन पर धरना देंगे शिक्षक

अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में नंबर-1 बना बिहार, लोक कला संस्कृति को मिला गोल्ड

मोटी कहकर चिढ़ाते थे, प्रेग्नेंट नहीं होने पर ताने, तंग आकर…

नीतीश का स्वास्थ्य विभाग को निर्देश, कहा- नए खतरे का सामना करने की पूरी तैयारी रखें

मां फ्लाईओवर पर नहीं थम रहा दुघर्टनाओं का सिलसिला, आज फिर…

…सेट पर अचानक फूट-फूटकर रोने लगी नुशरत, जानिये वजह

ऊपर