तृणमूल कांग्रेस ने नागरिकता कानून के विरोध में रैलियां निकालीं

tmc

कोलकाता : नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने रविवार को पूरे राज्य में रैलियां निकालीं। विभिन्न जिलों में मंत्रियों समेत पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने रैलियों का नेतृत्व किया और लोगों से शांति बनाये रखने तथा हिंसा में शामिल होने से बचने की अपील की। पोस्टर और तख्तियां लिये तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों ने मोदी सरकार के खिलाफ नारे लगाये और मांग की कि नये नागरिकता कानून को तुरन्त रद्द किया जाये।

ममता सोमवार को सड़कों पर उतरेंगी

तृणमूल कांग्रेस के नेता और शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा, ‘‘हम चाहते हैं कि इस विभाजनकारी नागरिकता अधिनियम को तुरंत खत्म कर दिया जाए। हमारी राज्य सरकार पहले ही कह चुकी है कि इसे बंगाल में लागू नहीं किया जायेगा, इसलिए हम लोगों से अपील करते हैं कि वे कानून को अपने हाथ में न लें, और शांति से विरोध करें।’’तृणमूल प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इस कानून के विरोध में सोमवार से सड़कों पर उतरेंगी।

पांच जिलों में इंटरनेट सेवाएं निलंबित

बता दें कि पश्चिम बंगाल में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हिंसक प्रदर्शनों के मद्देनजर पांच जिलों में इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गयी हैं। इस संबंध में एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सरकार ने खासकर सोशल मीडिया पर अफवाहों और फर्जी खबरों पर रोक लगाने के लिए मालदा, मुर्शिदाबाद हावड़ा, उत्तरी 24 परगना में और दक्षिणी 24 परगना के कई हिस्सों में इंटनेट सेवाएं अस्थायी रूप से बंद करने का निर्णय लिया है। अधिकारी ने कहा, ‘‘बार-बार अनुरोध करने के बावजूद कुछ सांप्रदायकि शक्तियां हिंसक प्रदर्शन कर रही हैं। स्थिति के मद्देनजर प्रशासन ने राज्य के पांच जिलों में इंटरनेट सेवाएं अस्थायी रूप से बंद करने का निर्णय लिया है।’’

शेयर करें

मुख्य समाचार

जनजातियों की कला-संस्कृति, परंपरा एवं रीति-रिवाज समृद्ध : द्रौपदी मुर्मू

रांची : झारखंड की राज्यपाल सह कुलाधिपति द्रौपदी मुर्मू ने शुक्रवार को कहा कि जनजातियों की कला, संस्कृति, लोक साहित्य, परंपरा एवं रीति-रिवाज समृद्ध रही आगे पढ़ें »

अत्यधिक प्रोटीन लेना हो सकता है जानलेवा: रिपोर्ट

नई दिल्ली : स्वस्थ रहने की बात हो तो सबसे पहले प्रोटीन लेने की सोचते हैं। प्रोटीन से मांसपेशियां मजबूत होती है और साथ ही आगे पढ़ें »

ऊपर