राज्यपाल धनखड़ के लाउडस्पीकर से कार्यक्रम संबोधन पर तृणमूल ने लगाया ये आरोप

dhankhad

हावड़ा : पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने एक कार्यक्रम में वहां मौजूद लोगों का संबोधन लाउडस्पीकर द्वारा किया, जिसने विवाद का रूप ले लिया। दरअसल, सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने आरोप लगाते हुए धनखड़ द्वारा लाउडस्पीकर से संबोधन को राज्य बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर लगाई गई पाबंदियों का उल्लंघन बताया। बता दें कि धनखड़ ने बुधवार की शाम को हावड़ा ग्रामीण के श्यामपुर पुलिस थाना क्षेत्र में स्थित अनंतपुर मिल मैदान में 10 दिवसीय मेले का उद्घाटन किया था। उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि अगर एक व्यक्ति शिक्षित होता है तो इससे सिर्फ उसे मदद मिलती है लेकिन जब एक लड़की शिक्षित होती है तो पूरे समाज का उत्थान करती है। मंच के पास आठ लाउडस्पीकर लगाए गए थे जहां से धनखड़ ने मेला मैदान में स्थित स्थानीय लोगों को संबोधित किया।

राज्यपाल ने मेले के लिए पुलिस से इजाजत ली थी : आयोजक

इस मामले को लेकर जिला प्रशासन और पुलिस अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं। राजभवन ने भी मामले में कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। वहीं आयोजकों का कहना है कि राज्यपाल ने मेले के लिए पुलिस से इजाजत ली थी। आयोजन समिति के प्रमुख भोलानाथ मंडल ने कहा कि राज्यपाल के संबोधन के दौरान सिर्फ मंच के करीब स्थित लाउडस्पीकरों का इस्तेमाल किया गया और मैदान के बाहर लगे लाउड स्पीकरों को बंद कर दिया गया था। साथ ही उन्होंने कहा कि ‘अनंतपुर में काली पूजा और मेले का आयोजन बेहद पुरानी परंपरा है। लाउडस्पीकर इस्तेमाल करने के अलावा हमारे पास कोई और विकल्प नहीं था।’

धनखड़ ने जो किया वह कानूनी नहीं है : तृणमूल कांग्रेस

दूसरी ओर तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय विधायक कालीपद मंडल ने राज्यपाल की आलोचना करते हुए कहा कि उन्होंने जो किया वह कानूनी नहीं है क्योंकि प्रदेश में चल रही माध्यमिक परीक्षाओं के कारण फिलहाल लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल पर पाबंदी है। इसके अलावा जिला प्रशासन के एक सूत्र ने बताया कि वे इस बात की जांच कर रहे हैं कि आयोजकों के पास लाउड स्पीकरों के इस्तेमाल की इजाजत थी या नहीं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

15 साल के गोल्फर ने खिताब और ट्राफियों को बेचकर पीएम केयर्स में दान किये 4.30 लाख रुपये

नयी दिल्ली : कोरोना वायरस संक्रमण से लोगों के बचाव के लिए देशभर में लागू 21 दिन के लॉकडाउन के बीच युवा गोल्फर अर्जुन भाटी आगे पढ़ें »

अस्पतालों में सुरक्षा उपकरणों की कमी तत्काल दूर हो : डॉ.वैश्य

नई दिल्ली: भारत में कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में चिकित्सक, नर्स एवं अन्य स्वास्थ्य कर्मी मजबूती के साथ डटे हुए है। स्वास्थ्यकर्मी अपनी जान को आगे पढ़ें »

ऊपर