‘नरो रूपे नारायण’ थीम को दिखा रहा है त्रिधारा

कोलकाता : कोरोना ने जिंदगी जीने का तरीका बदल दिया है, ऐसे में इस बार का हो रही दुर्गापूजा भी कुछ अलग तरीके से आयोजित की जा रही है। त्रिधारा पूजा पंडाल महानगर के मशहूर पूजा पंडालों में से एक है। इस बार त्रिधारा आया है एक नयी थीम ‘नरो रूपे नारायण’ के साथ, जो इस समय की परिस्थितियों को बड़ी खूबसूरती से दर्शा रहा है। ‘नरो रूपे नारायण’ का मतलब यह है कि जिस तरह से समय-समय पर भगवान श्रीराम, स्वामी विवेकानंद, ईश्वर चन्द्र विद्यासागर, मदर टेरेसा जैसे महान व्यक्ति व समाज सुधारकों ने समाज के लिये कई महान कार्य किये है, समाज की बुराइयों व कुरीतियों से निदान दिलाने का प्रयास किया है, वैसे ही इस कोरोना काल में डॉक्टर, नर्स से लेकर वार्ड ब्वाय तक लगातार लोगों को सुरक्षित रखने के लिये दिन-रात अस्पतालों में कार्य कर रहे हैं। त्रिधारा की मीडिया  को ऑर्डिनेटर गार्गी मुखर्जी ने बताया कि मां दुर्गा इस बार आई है तो वह कोरोना से हमें मुक्ति दिलाएगी। हाई कोर्ट के फैसले ने पूजा को पूरा फीका कर दिया है क्योंकि दुर्गापूजा का आयोजन बड़ी उम्मीद के साथ किया गया था लेकिन अब जब लोग ही मां के दर्शन नहीं कर पा रहे तो काफी बुरा लग रहा है। लोगों को मना करना कि आप पूजा पंडाल में न प्रवेश करें काफी चुनौतीपूर्ण है। त्रिधारा के प्रेसिडेंट हैं डॉ. अनुपम दास गुप्ता व जनरल  सेक्रेटरी मेयर परिषद के सदस्य देवाशिष कुमार हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

देव दीपावली पर रोशनी में नहाया काशी

वाराणसीः स्वर्गलोक से धरती पर पधार रहे देवताओं के स्वागत को काशी पूरी तरह सज-धज कर तैयार है। देव दीपावली को लेकर यही कहा जाता आगे पढ़ें »

सावधान! दांतों में हो रही ऐसी दिक्कत तो कोरोना…

नई दिल्लीः कोरोना वायरस का इंसान के दांतों पर भी बुरा असर देखने को मिल रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, कोविड-19 की चपेट में आगे पढ़ें »

ऊपर