पूजा के साथ ही शुरू हुआ ट्रैफिक जाम, गड्ढों ने बढ़ायी मुसीबत

कोलकाता : दुर्गा पूजा में अब सप्ताह भर का समय ही शेष रह गया है। ऐसे में पूरा बंगाल जोश और उत्साह के साथ दुर्गा पूजा की तैयारियां पूरी करने में जुटा हुआ है। कहीं शॉपिंग का उत्साह है तो कहीं मां दुर्गा की प्रतिमाओं को पंडालों तक पहुंचाने की जल्दी। इन सबके बीच, अभी लोगों के कार्यालय खुले हुए हैं, ऐसे में कार्यालय जाने और फिर शाम को घर लौटने में लोगों के पसीने छूट जा रहे हैं। दुर्गा पूजा के साथ ही ट्रैफिक जाम भी शुरू हो गया है। हाल तक हुई बारिश के कारण गड्ढों की मरम्मत भी पूरी नहीं हो पायी है जिस कारण स्थिति और बिगड़ गयी। सोमवार को कार्यालय खुलने के पहले ही दिन लोगों को भारी ट्रैफिक जाम का सामना करना पड़ा। ना केवल कार्यालय जाने बल्कि लौटने में भी उसी प्रकार की दिक्कतों का सामना करते हुए लोग घर लौटे।
गिरीश पार्क से एमजी आने में 15 मिनट से अधिक
जहां केवल 5 से 7 मिनट का समय लगना चाहिये, वहां पहुंचने में 15 मिनट से अधिक समय लग जा रहा है। गिरीश पार्क से एमजी तक आने में ही लोगों के पसीने छूट जा रहे हैं क्योंकि भारी ट्रैफिक जाम के कारण काफी मुश्किल हो रही है। इसी तरह बिडन स्ट्रीट से धर्मतल्ला पहुंचने में ही लगभग 40 मिनट का समय लग जा रहा है। एक तरह से सामान्य दिनों की तुलना में 3 गुना अधिक समय लग रहा है। इसी तरह आरजी कर की सड़क पर भी लोगों को काफी ट्रैफिक जाम का सामना करना पड़ा। वहीं टाला ​ब्रिज का काम करने के कारण सभी गाड़ियों को बेलगछिया से घुमाया जा रहा है, ऐसे में वहां गाड़ियों का दबाव काफी अधिक बढ़ गया है।
आगे और बढ़ सकता है ट्रैफिक जाम
उत्तर कोलकाता में दमदम पार्क, श्रीभूमि, हातीबागान, कुम्हारटोली जैसे पूजा पण्डाल बनते हैं, ऐसे में यहां से गुजरने वाले वाहनों की गति धीमी होने के साथ ही ट्रैफिक जाम बढ़ जाता है। जैसे – जैसे दुर्गा पूजा नजदीक आयेगी, ट्रैफिक जाम और बढ़ने की संभावना है। इसी तरह द​क्षिण कोलकाता में सुरुचि संघ, त्रिधारा, एकडालिया, कसबा बोसपुकुर आदि पूजा पण्डालों के कारण उन सड़कों पर ट्रैफिक जाम बढ़ने की संभावना है और ट्रैफिक का अधिकतर बोझ ईएम बाईपास पर पड़ने की संभावना है।
400 से अधिक सड़काें की होनी थी मरम्मत
कोलकाता की 400 से अधिक सड़कों की मरम्मत करवाये जाने की बात कही गयी थी, लेकिन लगातार बारिश के कारण सड़कों की मरम्मत नहीं हो पायी। ऐसे में सड़कों के गड्ढों ने और बड़ा रूप ले लिया। ऐसे में ‘कंगाली में आटा गीला’ वाली बात सही साबित हो गयी और गड्ढों और उस पर से ट्रैफिक जाम ने लोगों की मुसीबतें काफी बढ़ा दी हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

राज्‍य सरकार की बड़ी घोषणा : बनेंगे फिर कंटेनमेंट जोन

कोलकाता : त्योहारों के मौसम के बीच राज्य में कोरोना ने एक बार फिर दस्तक दी है। दुर्गापूजा के बाद से ही राज्य में कोरोना आगे पढ़ें »

ऊपर