आज नारदा मामले में आ सकता है फैसला

पांच जजों की लार्जर बेंच करेगी इस मामले की सुनवायी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : नारदा स्टिंग ऑपरेशन मामले में चार नेताओं को गृहबंदी बनाये जाने के आदेश के बाबत आज, यानी सोमवार को, फैसला आ सकता है। इस मामले की सुनवायी के लिए एक्टिंग चीफ जस्टिस राजेश बिंदल ने एक लार्जर बेंच का गठन किया है जो सोमवार से सुनवायी करेगी। इस लार्जर बेंच में एक्टिंग चीफ जस्टिस के साथ ही जस्टिस आईपी मुखर्जी, जस्टिस हरीश टंडन, जस्टिस सौमेन सेन और जस्टिस अरिजीत बनर्जी शामिल हैं।
यहां गौरतलब है कि ‌इस मामले में सीबीआई ने 17 मई को मंत्री सुब्रत मुखर्जी एवं फिरहाद हकीम और पूर्व मंंत्री एवं विधायक मदन मित्रा और पूर्व मेयर शोभन चटर्जी को गिरफ्तार किया था। उसी दिन सिटी सेशन कोर्ट के स्पेशल जज की अदालत में इन चारों की तरफ से जमानत याचिका दायर की गई थी और जज ने वर्चुअल सुनवायी के बाद उन्हें कुछ शर्तों के साथ जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया था। इसके खिलाफ उसी दिन सीबीआई ने एक्टिंग चीफ जस्टिस के डिविजन बेंच में एक अपील दायर कर दी और डिविजन बेंच ने स्पेशल कोर्ट के जज के आदेश पर स्टे लगा दिया था। लिहाजा वे जमानत पर रिहा नहीं हो पाए थे। इसके खिलाफ उनकी तरफ से एक्टिंग चीफ जस्टिस के डिविजन बेंच में एक रिकॉल पिटिशन दायर किया गया था। इस पर सुनवायी के दौरान जमानत दी जाने के मुद्दे पर इस डिविजन बेंच के एक्टिंग चीफ जस्टिस राजेश बिंदल और जस्टिस अरिजीत बनर्जी एकमत नहीं हो पाए थे। इसलिए चारों नेताओं को गृहबंदी बनाये रखने का आदेश दिया गया था। जस्टिस बिंदल जमानत दी जाने के पक्ष में नहीं थे जबकि जस्टिस बनर्जी जमानत दी जाने के पक्ष में थे। इसके बाद ही इसकी सुनवायी के लिए लार्जर बेंच के गठन का फैसला लिया गया। इस बेंच की सुनवायी में जमानत याचिका के अलावा कई संवैधानिक सवाल भी उठेंगे। जैसे एक्टिंग चीफ जस्टिस ने मुख्यमंत्री के सीबीआई कार्यालय में जाने और कानून मंत्री मलय घटक के सेशन कोर्ट में जाने को लेकर सवाल उठाया था। सीबीआई की तरफ बहस कर रहे सालिसिटर जनरल तुषार मेहता ने इन मुद्दों पर अपनी पुरजोर दलील दी थी। दूसरी तरफ इस मामले में पिटिशनरों की तरफ से बहस कर रहे एडवोकेट अभिषेक मनु सिंघवी, एडवोकेट सिद्धार्थ लुथरा और एडवोकेट कल्याण बनर्जी ने राज्यपाल की संवैधानिक भूमिका को लेकर सवाल उठाया था। इस लिहाज से लार्जर बेंच में इन मुद्दों पर भी सुनवायी होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

साल्टलेक सेक्टर-5 स्टेशन का भी निजीकरण

अब बंधन बैंक का लगा स्टेशन पर नाम कोलकाताः मेट्रो रेलवे की ओर से कई स्टेशनों को निजीकरण किए जाने की पहल पहले ही गई है। आगे पढ़ें »

महिला को डायन करार देकर पीटने का आरोप

मिदनापुर: पश्चिम मिदनापुर जिले के जंगलमहल इलाके में एक बार फिर से एक महिला को डायन करार देते हुए उसे बुरी तरह से पीटे जाने आगे पढ़ें »

ऊपर