आज 7500 स्क्वायर फीट का तिरंगा फहराया जाएगा विक्टोरिया में

  • 150फीटx50 फीट वाले इस तिरंगे का वजन लगभग 70 किलो है जिसे एचएमआई द्वारा बनाया गया है
  • तिरंगे का आयाम : 150फीटx50 फीट
  • वेल्क्रो टेप की सहायता से सेगमेंट जोड़े गये हैं
  • नॉर्दन फेकेड की ओर तिरंगे को फहराया जाएगा
  • जमीन से विक्टोरिया मेमोरियल हॉल की ऊंचाई है 184 फीट
  • नॉर्दन फेकेड की लंबाइ है 338 फीट
  • तिरंगे को इस तरह रखा ​जाएगा ताकि अशोक चक्र प्रवेश पर रहे

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : भारत की 75वीं आजादी का जश्न आज पूरा देश मनायेगा। 75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आज विक्टोरिया मेमोरियल में 7500 स्क्वायर फीट का तिरंगा फहराया जाएगा। इसे राज्यपाल जगदीप धनखड़ राष्ट्र को समर्पित करेंगे। विक्टोरिया मेमोरियल हॉल कोलकाता, इंडिया टूरिज्म कोलकाता, भारत सरकार, पर्यटन मंत्रालय व हिमलायन माउंटेनियरिंग इंस्टीट्यूट, दार्जिलिंग की ओर से इस कार्यक्रम को आयोजित किया जाएगा। आजादी के 75वें वर्ष पर आयोजित इस कार्यक्रम में विक्टोरिया मेमोरियल हॉल प्रांगण में 750 पौधे लगाये जाएंगे। वहीं राज्यपाल जगदीप धनखड़ द्वारा झंडोत्तोलन किया जाएगा। राज्यपाल को इस दौरान सीआईएसएफ द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर देने के साथ ही आर्मी बैंड द्वारा प्रस्तुति दी जाएगी।
माउंट रेनॉक में फहराया गया था 7500 स्क्वायर फीट का तिरंगा
7500 फीट का ये तिरंगा गत 25 अप्रैल को हिमालयन माउंटेनियरिंग इंस्टीट्यूट (एचएमआई) के अधिकारियों द्वारा सिक्किम हिमालया के माउंट रेनॉक पर 16,500 फीट की ऊंचाई पर फहराया गया था। इसके बाद तिरंगे ने दार्जिलिंग की यात्रा की जहां एचएमआई के अधिकारियों ने गत 21 जून को विश्व योग दिवस के अवसर पर फहराया था। अब ये तिरंगा आज 75वें स्वाधीनता दिवस पर राष्ट्र को समर्पित किया जाएगा।
हमारे लिए बेहद गर्व का क्षण : डॉ. जयंत सेनगुप्ता
इस बारे में विक्टोरिया मेमोरियल हॉल के क्यूरेटर व सेक्रेटरी डॉ. जयंत सेनगुप्ता ने कहा, ‘विक्टोरिया मेमोरियल हॉल के लिए ये बेहद गर्व का क्षण होगा। देश की आजादी के 75वें वर्ष के मौके पर शाही भारत की सबसे भव्य इमारतों में एक विक्टोरिया को 7500 स्क्वायर फीट के तिरंगे में लपेटा जाएगा।’ पर्यटन मंत्रालय के डिप्टी डायरेक्टर जनरल व रीजनल डायरेक्टर (ईस्ट) साग्निक चौधरी ने कहा, ‘भारत सरकार देश के सभी कोने में इस बार आजादी का अमृत महोत्सव मना रही है। विक्टोरिया मेमोरियल हॉल व एचएमआई के साथ मिलकर इस कार्य को करने में हमें काफी गर्व महसूस हो रहा है।’ इसी तरह ग्रूप कैप्टन व एचएमआई दार्जिलिंग के प्रिंसिपल जय किशन ने कहा, ‘पहाड़ों की चोटियों के ऊपर से एक सपना, क्वीन ऑफ हिल्स से एक यात्रा जो साहस, शांति और समृद्धि का संदेश फैलाने वाली है।’
पहली बार विक्टोरिया में होगा ऐसा
गत 23 जनवरी को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वें जन्म दिवस पर विक्टोरिया मेमोरियल हॉल को प्रोजेक्टर मैपिंग शो द्वारा वर्चुअली ढंका गया था। हालांकि ये पहली बार है कि इतना बड़ा तिरंगा विक्टोरिया के नार्दन गेट की ओर फहराया जाएगा। तिरंगे को विक्टोरिया के टेरेस पर वायर्स की मदद से फहराया जाएगा। तिरंगे का ऊपरी हिस्सा जो 150 फीट का है, वह जमीन से 70 फीट ऊपर होगा जबकि निचला हिस्सा जमीन के 20 फीट ऊपर होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

उत्तर हावड़ा में सांगठनिक बैठक के दौरान भाजपा के दो नेताओं में मारपीट

सन्मार्ग संवाददाता हावड़ा : चुनाव के बाद भाजपा के श्रमिक संगठन की बैठक के दौरान दो नेता आपस में ही भिड़ गये। यह घटना गत बुधवार आगे पढ़ें »

ऊपर