डेंगू से बचने के लिए हावड़ा में कबाड़ में पड़ी कार को हटायेगा निगम

लार्वा मिलने पर इमारत में लगाये जा रहे हैं ‘डेंगू हॉटस्पॉट’ के पाेस्टर
साढ़े 12 लाख रुपये की लायी गयी गप्पी मछली
सन्मार्ग संवाददाता
हावड़ा : डेंगू को लेकर हर साल हावड़ा नगर निगम गंभीर रहता है और इस काम काे तत्परता के साथ करता है। ऐसे में एक बार फिर हावड़ा में डेंगू का प्रभाव न पड़े इसके लिए निगम की ओर से अभिनव प्रयास किये गये हैं। इस बारे में हावड़ा नगर निगम के बोर्ड ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर के चेयरपर्सन डॉ. सुजय चक्रवर्ती ने सन्मार्ग को बताया कि इनमें पहला है हावड़ा में जितनी भी कार जो कि कबाड़ होकर पड़ी हैं, उनका एक ब्योरा तैयार किया जा रहा है ताकि इनमें पैदा होनेवाले लार्वा को खत्म किया जा सके।
कार हटाने के लिए प्रशासन व पुलिस से की गयी है अपील
उन कारों को हटाने के लिए निगम ने हावड़ा प्रशासन से अग्राह किया है। इसके साथ ही पुलिस से भी अपील की गयी है कि विभिन्न थानों और पुलिस लाइन में पड़े लावारिस वाहनों को तत्काल हटाया जाए। निगम अधिकारियों के मुताबिक जब्त वाहन काफी समय से इसी हालत में पड़े हैं और उनमें मच्छर पनप रहे हैं, इसलिए कारों को पहले हटाया जायेगा। हर साल हावड़ा या शिवपुर पुलिस लाइन के विभिन्न थानों में पड़े विभिन्न परित्यक्त वाहनों के पानी में डेंगू के लार्वा पाए जाते हैं। यह सही है, पुलिस-प्रशासन को तुरंत वाहनों को हटाने के लिए कहा जाएगा। इसके लिए 12 लाख गप्पी मछलियां लाई गई हैं।
लार्वा मिलने पर इमारतों पर लगाये जा रहे हैं पोस्टर
इसके अलावा शहर में डेंगू फैलाने वाले मच्छरों के लार्वा के खात्मे की राह में सबसे बड़ी बाधा नगर निगम के स्वास्थ्य कर्मियों को घरों या बहुमंजिला इमारतों तक पहुंचना होता है। इस समस्या के समाधान के लिए इस बार हावड़ा जिला स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम ने अभिनव निर्णय लिया है। सुजय चक्रवर्ती ने कहा कि अगर शहर के कर्मचारियों को मच्छरों के लार्वा को मारने या घरों में तेल के छिड़काव से रोका जाता है, तो नगरनिगम की ओर से घर या बहुमंजिली इमारत को मच्छर प्रजनन स्थल के रूप में चिह्नित करने वाले पोस्टर लगाये जा रहे हैं । हाल ही में इस मामले को लेकर निगम अधिकारियों व जिला स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों व चिकित्सकों के साथ बैठक की गयी। उसके बाद जो फ्लैट या घर स्वास्थ्य कर्मियों को मच्छरों के लार्वा को मारने या लारविसाइड तेल फैलाने की अनुमति नहीं देते हैं, उनके फ्लैट या घर की दीवार पर ‘डेंगू हॉटस्पॉट’ के रूप में एक पोस्टर होगा।
स्वास्थ्‍य कर्मी जगह-जगह कर रहे हैं छिड़काव
बैठक में इस बात पर भी चर्चा हुई कि जिला स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग के बीच समन्वय से डेंगू से कैसे निपटा जाए ताकि संक्रमितों की संख्या न बढ़े। साथ ही यह भी तय किया गया है कि जिन इलाकों में डेंगू सबसे ज्यादा है वहां स्वास्थ्य कर्मी रोजाना वहां जाकर मच्छर भगाने वाला तेल फैलाएंगे। उन्होंने कहा कि हावड़ा में डेंगू के मामले अब भी पिछली बार के मुकाबले कम हैं। पिछले साल इस समय डेंगू के मामलों की संख्या 100 थी। इस बार यह संख्या अभी भी 29 है। वार्ड 31 व 32 तथा 6 वार्डों में से प्रतिदिन 3-4 लोग डेंगू से संक्रमित हो रहे हैं। उन दो वार्डों में फीवर क्लीनिक खोले गए हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बड़ी खबरः फिर उबला भाटपाड़ा, समाज विरोधियाें ने लहराये हथियार, घायल किये लोगों को

भाटपाड़ा : भाटपाड़ा एक बार फिर उबला। यहां समाजविरोधियों ने हथियार लहराते हुए लोगों को घायल कर दिया। भाटपाड़ा थाना अंतर्गत मद्राल नेताजी मोड़ इलाके आगे पढ़ें »

ऊपर