उपचुनाव की चार सीटों पर भी कड़ी सुरक्षा

अर्द्धसैनिक बलों की 27 कंपनियां तैनात
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः चुनाव आयोग चार सीटों पर होने वाले उपचुनाव में भी सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद रखना चाहता है। आयोग यह भी सुनिश्चित करना चाहता है कि चारों विधानसभा क्षेत्रों के उपचुनाव कड़ी सुरक्षा के बीच हो। केंद्रीय बलों की तैनाती के साथ ही मतदान होगा। चुनाव आयोग के सूत्रों के अनुसार राज्य के बाकी चार केंद्रों पर उपचुनाव के लिए कुल 27 केंद्रीय बलों को तैनात करने का फैसला लिया गया है। यहां 13 अक्टूबर से पहले अर्द्धसैनिक बल पहुंचेंगे। इन 27 कंपनी में केंद्रीय बलों को दिनहाटा, शांतिपुर, खड़दह और गोसाबा केंद्रों के लिए तैनात किया जाएगा। इन बलों की तैनाती का मुख्य लक्ष्य चुनाव प्रक्रिया को सुचारू रूप से पूरा करना है। केंद्रीय बलों की 27 कंपनियों में से 9 बीएसएफ की, 8 सीआरपीएफ की, 5 सीआईएसएफ की और 5 एसएसबी की हैं। बाकी का अभी पता नहीं चला है।
हालांकि, एक केंद्र के लिए अर्द्धसैनिक बलों की संख्या स्थानीय जिला चुनाव अधिकारी के परामर्श से तय की जाएगी। जरूरत पड़ने पर केंद्रीय बलों की संख्या बढ़ाई जा सकती है। दरअसल, चुनाव आयोग ने भवानीपुर में उपचुनाव और हाल ही में संपन्न हुए दो केंद्रों में उपचुनाव के लिए कुल 72 कंपनियां तैनात की थीं। इनमें से केंद्रीय बलों की 35 कंपनियां अकेले भवानीपुर में तैनात थीं।
भवानीपुर चुनाव से पहले, भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव आयोग से कहा था कि राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति पर भरोसा नहीं है। इसलिए और केंद्रीय बलों को मतदान के लिए लाना होगा। देखा जा सकता है कि चुनाव आयोग ने भी उस मांग पर मुहर लगा दी। पहले तय हुआ था कि भवानीपुर उपचुनाव के लिए केंद्रीय बलों की 15 कंपनियां होंगी। लेकिन वोट से पहले अंतिम समय में 20 और कंपनियों को तैनात किया गया था। चुनाव आयोग एक बार फिर केंद्रीय बलों की सुरक्षा के साथ दिनहाटा, गोसाबा, खड़दह और शांतिपुर में उपचुनाव कराने जा रहा है। चार विधानसभा क्षेत्रों गोसाबा, दिनहाटा, शांतिपुर और खड़दह में 30 अक्टूबर को मतदान होगा। रिजल्ट 2 नवंबर को जारी किया जाएगा। ज्ञात हो कि परिणाम घोषित होने से एक दिन पहले खड़दह विधानसभा क्षेत्र के तृणमूल उम्मीदवार काजल सिन्हा का निधन हो गया था। वहीं बीजेपी के दो सांसदों जगन्नाथ सरकार और निशिथ प्रमाणिक ने 12 मई को चुनाव जीतकर विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था। शांतिपुर और दिनहाटा निर्वाचन क्षेत्रों में उनकी सीटें खाली हैं। गोसाबा तृणमूल विधायक जयंत नस्कर का 19 जून को निधन हो गया था। इन चारों केंद्रों पर ही उपचुनाव हो रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

एक क्लिक में पढ़ें शाम 5 बजे तक की बड़ी खबरें

राज्य की खबरों पर एक नजर 1. कोलकाता के एक नामी रेस्टोरेंट में शनिवार को खाने के दौरान आग लग गई। मल्लिकबाजार स्थित इस रेस्टोरेंट में आगे पढ़ें »

ऊपर