तृणमूल के इस ने ‘मां सीता के पाताल प्रवेश’ और ‘जय श्री राम’ नारे पर उठाया सवाल…

कोलकाता : बंगाल के बाद त्रिपुरा में टीएमसी और सतारूढ़ दल भाजपा के बीच घमासान जारी है। तृणमूल के प्रवक्ता कुणाल घोष के खिलाफ त्रिपुरा में तीन और मामले दर्ज किए गए हैं। उन पर ‘मां सीता के पाताल प्रवेश’ करने पर सवाल करने और ‘जय श्री राम नारे’ का विरोध करने का आरोप लगा है। कुणाल घोष के खिलाफ 2 टिप्पणियों के मामले में 3 और मामले दर्ज किए गए हैं। कुणाल घोष को अमरपुर, ओम्पी पुलिस की ओर से नोटिस भेजा गया है। त्रिपुरा पुलिस ने मामले की जांच के लिए तृणमूल प्रवक्ता को तलब किया है। अमरपुर और ओमपी थानों ने नोटिस भेजा है। मामला सामने आने के बाद कुणाल घोष ने दावा किया कि बीजेपी राजनीतिक रूप से दिवालिया होकर एक के बाद एक मामले में उन्हें चुप कराने की कोशिश कर रही है। राम राज में मां सीता ने पाताल में प्रवेश क्यों किया था? कुणाल घोष ने सवाल उठाया था। इसके अलावा कुणाल घोष ने राजनीति में ‘जय श्री राम’ के नारे का विरोध किया था। उन पर ये दो आरोप हैं। इससे पहले अगरतला के वेस्ट पुलिस स्टेशन की ओर से नोटिस जारी किया गया था। इस बार दोनों थानों की ओर से भेजे गए नोटिस में इस मामले का जिक्र किया गया है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

नई तारीखों का एलान, 26 दिसंबर से टेस्ट और 19 जनवरी से वनडे सीरीज की शुरुआत

भारत को इस महीने दक्षिण अफ्रीका का दौरा करना है। टीम इंडिया का यह दौरा कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के खतरे के बीच होगा। आगे पढ़ें »

ऊपर