इस बार हल्दिया में बेरोजगारी है बड़ा मुद्दा

मधु सिंह
हल्दिया : वादे, दावे और नये – नये सपने दिखाते हुए सभी राजनीतिक पार्टियों ने अपना-अपना चुनावी मैनिफेस्टो जारी कर दिया है। सभी मैनिफेस्टो में बड़े-बड़े दावे और वादे किये गये हैं। पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में इस बार युवाओं को ध्यान में रखते हुए पार्टियों ने नौकरी के दावे किये हैं। एक तरफ तृणमूल सरकार ने पिछले 10 वर्षों के कार्यकाल में 1 करोड़ 20 लाख नौकरियां देने की बात कही तो दूसरी तरफ भाजपा ने सत्ता में आने के बाद 75 लाख जॉब कार्ड देने का वादा किया। दावे और वादे तो बड़े – बड़े हुए हैं, लेकिन बात करें कभी रोजगार का केंद्र रहने वाले हल्दिया की तो मौजूदा समय में हल्दिया की हालत अत्यंत दयनीय है। यहां के युवा रोजगार चाहते हैं और इस बार यहां के चुनाव में इसी मुद्दे पर अपने प्रतिनिधि का चयन करने की बात लोगों ने कही है।
बेरोजगारी से त्रस्त हैं हल्दिया के युवा
हल्दिया के युवा बेरोजगारी से त्रस्त हैं। पहले हल्दिया डेवलपमेंट अथॉरिटी (एचडीए) में कांट्रैक्चुअल बेसिस पर काम करने वाले कई युवा मौजूदा समय में बेरोजगार हो गये हैं। कोई लॉटरी की दुकान खोलकर तो कोई ट्रक चलाकर अपने परिवार का पेट भर रहा है। लोगों का कहना है कि कम से कम पहले की तरह कांट्रैक्ट पर ही काम मिल जाये तो कम से कम कुछ तो आय होगी।
13 मोड़ पर ये कहा लोगों ने
अरविंद कुमार राय ने कहा कि इस बार बंगाल में भाजपा की लहर है। राज्य सरकार ने भी काम किया है, लेकिन लहर भगवा की है। देवकुमार पॉल ने कहा कि यहां दो पार्टियों तृणमूल और भाजपा के बीच लड़ाई होगी। भाजपा का पलड़ा इस बार भारी है। काकोली सामंत ने भी कहा कि इस बार हल्दिया में बेरोजगारी बड़ा मुद्दा है। लोगों के पास कोई काम नहीं है। विशेषकर कोरोना के समय में जो भी लोग एचडीए में कांट्रैक्ट पर काम करते थे, वह काम भी छूट गया। विश्वानंद दास ने कहा कि पिछले 10 वर्षों में केवल बेरोजगारी बढ़ी है, दीदी ने कुछ नहीं किया, अब देखते हैं दादा क्या करते हैं।
एम्प्लायमेंट एक्सचेंज में 36 लाख लोगों का नाम
आंकड़ों के अनुसार, मौजूदा समय तक राज्य के एम्प्लायमेंट बैंक में लगभग 36,02,040 लाख लोगों का नाम रजिस्टर्ड है जो नौकरी की तलाश में हैं। केवल वर्ष 2020 में इसमें 1 लाख लोगों का नाम जुड़ा है। सरकारी विभागों से मिले आंकड़े बताते हैं कि लगभग 2 लाख से अधिक पोस्ट स्थायी तौर पर खाली हैं।
पीएम ने कहा, आयात व निर्यात का केंद्र बनेगा हल्दिया
हल्दिया को आयात व निर्यात का केंद्र बनाने की बात करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि मौजूदा समय में हल्दिया की क्या स्थिति हो गयी है। सिंडिकेट व तोलाबाजी ने इसे बर्बाद कर दिया है। अब हल्दिया को कट, कमीशन और सिंडिकेट से मुक्त करने का समय आ गया है। अब तोलाबाजी, सिंडिकेट रातों -रात खत्म होगी। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हल्दिया पोर्ट को विकसित करने के लिए केंद्र सरकार कई योजनाएं लेकर आयी है और आगे भी लायी जाएंगी।
वादे तो कई हुए हैं, हर तरफ से हुए हैं, लेकिन कितने वादे पूरे होते हैं, कितनी उम्मीदें पूरी होती हैं और कितने बेरोजगार युवाओं के सपनों को नयी उड़ान मिलती है, यह आने वाला समय ही बता सकता है। अब देखना यह है कि हल्दिया में बेरोजगारी का ये मुद्दा कौन सा फूल खिलाता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

90 ड्राइवरों व गार्ड के संक्रमित होने के बाद लोकल ट्रेनों का संचालन प्रभावित

कोलकाता : पूर्व रेलवे ने मंगलवार को कहा कि 90 ड्राइवरों और गार्ड के कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद उसने अभी तक सियालदह आगे पढ़ें »

ब्रेकिंगः नरेंद्र मोदी के संबोधन से जुड़ी हर बात यहां

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री ने देश के नाम पर संबोधन शुरू कर दिया है। आइए जानते हैं संबोधन की मुख्य बातें। मोदी ने कहा, ‘साथियो! अपनी आगे पढ़ें »

ऊपर