ममता ने विधायकों को दिया मंत्र, कहा…

बोलीं, विधानसभा में उपस्थिति होनी चाहिए अनिवार्य
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : विधानसभा सत्र के पहले दिन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने विधायकों को खास मंत्र देते हुए कहा कि विधानसभा ही आपके लिए उपासना स्थल है। मंत्री हों या विधायक सभी की यहां उपस्थिति अनिवार्य है। ममता ने नये विधायकों को भी मन लगाकर अपना कर्तव्य निभाने की हिदायत दी। ममता ने कहा कि पहली बार जो विधायक बने हैं वह अपने कर्तव्यों का निर्वहन ठीक से करें। जरूरत पड़ने पर जो पुराने विधायक हैं उनसे दिशा-निर्देश लें, साथ ही पुराने विधायक भी नये विधायकों को गाइड करें कि उन्हें अपने क्षेत्र में कैसे काम करना है। ममता ने कहा कि विधानसभा सभी विधायकों के लिए प्राथमिकता होनी चाहिए क्योंकि यही मंदिर है, यही मस्जिद है और यही गिरिजाघर है। खुद का उदाहरण देते हुए ममता ने कहा कि जब वे पहली बार विधायक बनी थीं तो रोज विधानसभा आती थीं। उस वक्त ऐसा लगता था मानो यह शिक्षा का केंद्र है और वह छात्र की तरह रो​ज कुछ न कुछ सीख रही हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

हावड़ा में अवैध पार्किंग के खिलाफ सख्त होगा प्रशासन

हावड़ा डीएम कार्यालय, अस्पताल, अदालत व निगम के बाहर वाहनों की कतारें प्रशासन, निगम व पुलिस ने की बैठक, उठाये जायेंगे कड़े कदम सन्मार्ग संवाददाता हावड़ा : अवैध आगे पढ़ें »

ऊपर