लोकतंत्र को बचाने के लिए मिलकर लड़ने का वक्त आ गया है – ममता

विपक्षी दलों को ममता ने लिखी चिट्‌ठी
राज्यपाल की भूमिका पर भी उठाये सवाल
सन्मार्ग संवाददाता
नयी दिल्ली : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दूसरे चरण की वोटिंग से पहले गैर-भाजपा नेताओं को निजी पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने सभी विपक्षी दलों से एकजुट होने की अपील की है। उन्होंने भारत के लोकतंत्र और संवैधानिक संघवाद पर भाजपा और उसकी सरकार द्वारा ‘हमलों’ को रेखांकित किया है। ममता बनर्जी का पत्र बुधवार को तृणमूल कांग्रेस ने जारी किया। तीन पन्नों के इस पत्र में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राकांपा के नेता शरद पवार, द्रमुक के एमके स्टालिन, समाजवादी पार्टी के अखिलेश यादव, राजद के तेजस्वी यादव, शिवसेना के उद्धव ठाकरे, अरविंद केजरीवाल, हेमंत सोरेन, नवीन पटनायक, जगन रेड्डी, फारूक अब्दुल्ला, मेहबूबा मुफ्ती व दिपांकर भट्टाचार्य सहित अन्य लोगों को संबोधित किया गया है।
ममता बनर्जी ने पत्र में कहा है, ‘मैं भारत के लोकतंत्र और संवैधानिक संघवाद पर भाजपा और केन्द्र में उसकी सरकार द्वारा हमलों को लेकर अपनी गंभीर चिंताओं से अवगत कराने के लिए आपको और गैर-भाजपा दलों के कई नेताओं को पत्र लिख रही हूं।’ राष्ट्रीय राजधानी राज्यक्षेत्र शासन (संशोधन) विधेयक 2021 को संसद के दोनों सदनों द्वारा पारित किये जाने का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि यह एक ‘अत्यंत गंभीर’ विषय है। उन्होंने कहा, ‘इस कानून के जरिये केन्द्र की भाजपा सरकार ने लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित सरकार की सभी शक्तियों को छीन लिया है और उपराज्यपाल को दिल्ली का अघोषित वायसराय बना दिया गया, जो गृह मंत्री और प्रधानमंत्री के लिए एक प्रतिनिधि (प्रॉक्सी) के रूप में काम कर रहे हैं।’
एक नजर चिट्ठी के मुख्य बिंदुओं पर
* ममता का आरोप जिन राज्यों में भाजपा की सरकार नहीं है, वहां राज्यपाल भाजपा के कार्यकर्ताओं की तरह काम करते हैं। बंगाल में भी ऐसा हो रहा है।
* ईडी, सीबीआई व अन्य एजेंसियों को पीछे लगाया जाता है। खासकर जहां चुनाव हो रहे हैं बंगाल और तमिलनाडु में ऐसा हो रहा है।
* गैर भाजपा शासित राज्यों को केंद्र सरकार पैसे देने में आनाकानी करती है।
* मोदी सरकार सभी सरकारी संपत्तियों को बेचना चाहती है। ये लोगों के साथ धोखा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

शक्ति के अनुष्ठान का पर्व नवरात्र

आद्यशक्ति माता भगवती दुर्गा ही समस्त संसार को जीवन, ऊर्जा एवं सरसता प्रदान करती हैं। जगत के विविध प्रपंच उन्हीं से उत्पन्न होकर उन्हीं में आगे पढ़ें »

हावड़ा में पड़ोसियों पर लगा कोरोना पीड़ित परिवार से बदतमीजी का आरोप

हावड़ा : हावड़ा में एक बार फिर कोरोना का प्रकोप बढ़ता नजर आ रहा है और एक बार फिर दिल दहलानेवाली घटनाएं सामने आ रही आगे पढ़ें »

ऊपर