दक्षिण कोलकाता के प्रसिद्ध पूजा पंडालों की थीम चर्चा में

मां दुर्गा की भव्य प्रतिमाएं
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बंगाल में पूजा की धूम जारी है। यहां के सबसे बड़े उत्सव दुर्गापूजा में थीम पर आधारित पंडाल बेहद ही चर्चा में रहते हैं। हर साल दुर्गा पूजा का एक अलग ही रूप देखने को मिलता है। इस बार भी उत्तर, मध्य से लेकर दक्षिण कोलकाता में एक से बढ़कर एक पूजा पंडाल बनाये गये हैं। दक्षिण कोलकाता में कहीं थीम तो कहीं मां दुर्गा की भव्य प्रतिमा लोगों को खूब पसंद आ रही है। चेतला अग्रणी, सुरुचि संघ, हिन्दुस्तान पार्क, 25 पल्ली, 74 पल्ली सहित कई पूजा पंडाल चर्चा में हैं। वहीं एकडालिया एवरग्रीन के पूजा पंडाल में मां दुर्गा की भव्य प्रतिमा भी मन मोह रही है। हर बार ही दक्षिण कोलकाता के ये पंडाल कभी थीम तो कभी मां की प्रतिमा की भव्यता से लोगों को पंडाल तक खींच ले आते हैं। हालांकि कोरोना संक्रमण से बचते हुए लोग दुर्गा पूजा पंडाल के दर्शन के लिए निकल रहे हैं।
चेतला अग्रणी : चेतला अग्रणी की थीम इस वर्ष है अनुसरण। पिछले डेढ़ सालों में कोरोना की वजह से अपनी जान गंवाने वाले कोविड वॉरियर्स को यहां श्रद्धांजलि अर्पित की जा रही है। मां दुर्गा से उनकी आत्मा की शांति की कामना की जा रही है। महामाया का अनुसरण किया जा रहा है।
एकडालिया एवरग्रीन : दक्षिण कोलकाता के बड़े पंडालों में शामिल एकडालिया एवरग्रीन हमेशा से थीम से बाहर पंडाल को तैयार करता है। देवी की प्रतिमा से लेकर मंडप को अपने अंदाज में यहां सजाया जाता है। यहां काल्पनिक मंदिर बनाया गया है।
सुरुचि संघ : हर बार ही सुरुचि संघ अपनी अलग पूजा थीम के लिए जाना जाता है। इस बार सुरुचि संघ की थीम आवदार है। यहां मां दुर्गा से प्रार्थना की जा रही है कि पृथ्वी को कोरोना मुक्त कर दें। बच्चों के कपड़ों से पूरे पंडाल को सजाया गया है। वहीं प्रतिमा भी बहुत भव्य है।
74 पल्ली : खिदिरपुर की 74 पल्ली की ओर से इस बार पहले जमाने के पोर्ट में राजबाड़ी में होने वाली पूजा को थीम के रूप में दर्शाया गया है। पूरे पंडाल को पहले की राजबाड़ी की तरह थीम के रूप में उतारने की पूरी कोशिश की गयी है।
दर्शनार्थी बाहर से ही मां के कर रहे हैं दर्शन
राज्य सरकार की तरफ से लोगों से अीपल की गई है कि वे कोरोना प्रोटोकॉल मानें। सीएम ममता बनर्जी लगातार कह रही हैं कि पंडालों के बाहर मास्क पहनकर ही रहें। वहीं पंडालों के अंदर जाने पर भी रोक लगा दी गई है। लोग पंडाल को बाहर से ही देख रहे हैं। पूजा पंडाल प्रबंधनों ने एंट्री गेट को इतना बड़ा बनाया है कि दर्शनार्थी बाहर से ही मां को देख सकते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

100 करोड़ वैक्सीनेशन पर दिलीप घोष ने तृणमूल पर किया कटाक्ष

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : 100 करोड़ वैक्सीनेशन पर भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने जहां नरेंद्र मोदी सरकार की प्रशंसा की तो वहीं राज्य की आगे पढ़ें »

ऊपर