पर्यावरण में प्रदूषण बन रहा आकाशीय बिजली गिरने का कारण !

पिछले 24 घंटे में ही 28 लोगों की वज्रपात से गयी जान
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : मानसून ने दस्तक तो नहीं दी लेकिन रोजाना दक्षिण बंगाल सह कोलकाता में जिस तरह घटाएं काली हो रही हैं उससे मौसम भले खुशनुमा हो रहा हो लेकिन आकाशीय बि​जली भी कहर बनकर गिर रही है। 24 घंटे पहले राज्य में आकाशीय बिजली के कहर ने 28 लोगों की जान ले ली। इस तरह अचानक बिजली का कड़कना, वज्रपात होना चिंता का विषय है। माना जा रहा है कि पर्यावरण में हो रहे बदलाव के कारण ही वज्रपात की घटनाएं बढ़ रही हैं।
जानकारों की माने तो क्यूमूलोनिश्वास बादल से बारिश और वज्रपात होता है। पिछले कुछ सालों में सिर्फ बंगाल में ही अप्रैल-मई के महीनों में इस तरह की बारिश अधिक देखी गयी है यानी बारिश के साथ वज्रपात अधिक हो रहा है। इसके पीछे कारण बताया जाता है कि बरसात का पानी जल्द वाष्प में तब्दील होता है, क्योंकि वातावरण में तापमान भी जल्दी बढ़ता है। इस तापमान के साथ पर्यावरण में प्रदूषण भी तेजी से बढ़ता है अर्थात जितना प्रदूषण पर्यावरण में बढ़ेगा उतनी तापमान में भी बढ़ोतरी होगी जो वज्रपात का कारण बनता है। अब राज्य में पिछले दिनों से लगातार जो आकाशीय बिजली गिर रही है उसके पीछे हाल ही में आये तूफान यास कारण बताया जा रहा है जिसकी वजह से वज्रपात होने के कारण बन रहे हैं। यही कारण है कि पिछले कुछ दिनों से गर्मी और उमस बढ़ रही है जिसके कारण तापमान लगातार बढ़ रहा है।
एटमॉसफेरिक साइंस विभाग, सीयू के प्रोफेसर सुब्रत मिद्या ने इस बारे में बताया कि पर्यावरण में प्रदूषण अधिक होने के कारण ही तापमान में बढ़ोतरी हो रही है जिसके कारण वज्रपात हो रहा है। इतना ही नहीं आकाशीय बिजली शहर से ज्यादा ग्रामीण इलाकों में गिर रही है। उस वक्त खाली मैदान या पेड़ के नीचे लोग अधिक खड़े होते हैं मगर दुर्भाग्यवश वे आकाशीय बिजली का शिकार हो जा रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

प्रदेश भाजपा नेताओं ने शाह को गलत समझाया : शोभन चटर्जी

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पूर्व भाजपा नेता शोभन चटर्जी ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि विधानसभा चुनाव के दौरान राज्य के भाजपा नेताओं ने राजनीतिक परिस्थिति आगे पढ़ें »

बड़ी खबर : बंगाल में एक दिन में कोविड से 58 की मौत, 3 हजार से नीचे आए नए मामले

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस का ग्राफ और नीचे आया है। अब एक दिन में कोरोना वायरस के संक्रमण से 2788 नए मामले सामने आगे पढ़ें »

ऊपर