कोरोना से मृत बेटे के शव के साथ तीन दिनों से रह रही थी वृद्धा

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : कोरोना संक्रमण के कारण बीमार पड़े बेटे की मौत के बाद गम में एक वृद्धा उसके शव को जकड़ कर तीन दिनों तक बैठी थी। घटना ठाकुरपुकुर थानांतर्गत चंद्रपल्ली इलाके की है। गुरुवार को स्थानीय लोगों से घटना की सूचना पाकर ठाकुरपुकुर थाने की पुलिस कमरे के अंदर पहुंची तो वृद्धा महिला दुर्गारानी देवी (75) को बेटा कमल दे (53) के पास अचेत हालत में पाया। दोनों का उद्धार कर अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने बेटा कमल दे को मृत घो‌षित कर दिया, वहीं दुर्गारानी का इलाज चल रहा है।
क्या है पूरा मामला
पुलिस सूत्रों के अनुसार स्थानीय लोगों‍ ने बताया कि एक कमरे में 75 वर्षीया महिला दुर्गारानी दे अपने बेटे कमल दे के साथ रहती थी। दुर्गारानी के दो और बेटे हैं, जो काम के सिलसिले में दूसरे राज्य में रहते हैं। स्थानीय लोगों के अनुसार पिछले तीन दिनों से दुर्गारानी का कमरा बंद था। उसे किसी ने पिछले तीन दिनों से घर से बाहर निकलते नहीं देखा। इसी के बाद किसी अनहोनी के संदेह में उन्होंने पुलिस को घटना की जानकारी दी। पुलिस ने आकर कमरे का दरवाजा खोला तो अंदर महिला अपने बेटे के पास अचेत पड़ी थी। पता चला कि दोनों ही कोरोना संक्रमित होने के कारण घर में बंद थे। इस बीच बेटे की मौत होने के बाद वह गम में टूट पड़ी थी। फिलहाल महिला का अस्पताल में इलाज चल रहा है। इस घटना के खुलासे के बाद इलाके में शोक व्याप्त है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बच्चों व महिलाओं के लिए 10 हजार बेड तैयार कर रहा स्वास्थ्य विभाग

बच्चों के लिए स्पेशल कोविड बेड हर अस्पताल में थर्ड वेव के मद्देनजर तैयारियां जोरों पर सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना वायरस महामारी के सेकंड वेव ने स्वास्थ्य आगे पढ़ें »

लोकल ट्रेनों के नहीं चलाने से यात्री हुए परेशान, इधर रेलवे को अनुमति का इंतजार

राज्य सरकार द्वारा आगामी 30 जून तक बढ़ायी गयी है सख्ती हावड़ा : राज्य सरकार की ओर से आगामी 30 जून तक सख्ती बढ़ा दी आगे पढ़ें »

ऊपर