कल से दक्षिणेश्वर तक का सफर मेट्रो से

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सोमवार को नोआपाड़ा से दक्षिणेश्वर तक कोलकाता मेट्रो की नार्थ साउथ लाइन के विस्तार के उद्घाटन के बाद से मंगलवार से लोग मेट्रो का सफर कर करेंगे। कोलकाता मेट्रो की मुख्य जनसंपर्क अधिकारी प्रवक्ता इंद्रानी बनर्जी ने कहा कि प्रधानमंत्री दक्षिणेश्वर के लिए मेट्रो को हरी झंडी दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि नियमित यात्रियों के लिए मंगलवार से मेट्रो शुरू हो जाएगी। ऐसे में दक्षिणेश्वर काली मंदिर जाने के इच्छुक श्रद्धालुओं को अपने मेट्रो रेलवे के विस्तार के बाद तेज और प्रदूषण मुक्त यात्रा की सुविधा मिल सकेगी। कवि सुभाष मेट्रो स्टेशन से यात्री यहां तक पहुंच सकेंगे।
कालीघाट से जुड़ जाएगी मेट्रो, सहज होगा सफर
नोआपाड़ा के बाद दो मेट्रो स्टेशन हैं। बरानगर और अंतिम स्टेशन दक्षिणेश्वर मेट्रो है। नोआपाड़ा से दक्षिणेश्वर तक 4.1 कि.मी. मेट्रो के विस्तारित खंड पर काम पहले ही पूरा हो चुका था। रेलवे सुरक्षा आयुक्त ने 5 फरवरी को इस क्षेत्र का दौरा किया था। इसके बाद सशर्त परिचालन की मंजूरी के बाद परिसेवा को शुरू करने की योजना बनाई गई है। कोलकाता मेट्रो रेलवे सूत्रों के अनुसार पहले ही नोआपाड़ा-दक्षिणेश्वर मेट्रो शुरू करने की कवायद शुरू हो गई थी। इस मार्ग पर मेट्रो के शुभारंभ के साथ ही अब कालीघाट और दक्षिणेश्वर का सफर सहज हो जाएगे। विशेषकर कम समय में यात्री दोनों जगहों का सफर कर सकेंगे।
ट्रैफिक जाम से ‌मिलेगी निजातः
नोआपाड़ा से दक्षिणेश्वर मेट्रो तक को जोड़ने वाली कुल 4.1 कि.मी. की परियोजना से बीटी रोड से लेकर एक बड़े ट्रैफिक से लोगों को निजात मिलेगी। अगरपाड़ा, सोदपुर, पानीहाटी व टीटागढ़ तक के लोग बरानगर जाकर वहां से मेट्रो का सफर कर सकेंगे। सीधे तौर पर कहा जा सकता है उत्तर 24 परगना से कोलकाता व दक्षिण 24 परगना लोग कम समय में जुड़ सकेंगे।
यह नए स्टेशन शामिल
-बरानगर
-दक्षिणेश्वर
-कुल 4.1 कि.मी.

शेयर करें

मुख्य समाचार

पानी की टंकी में डाल दें इन में से 1 चीज, पैसों की किल्लत होगी दूर

कोलकाताः हर किसी को अच्छा जीवन बीताने के लिए आर्थिक तौर पर सक्षम होना जरूरी है। मगर बहुत बार मेहनत करने के बावजूद भी व्यक्ति आगे पढ़ें »

टीएमसी नेता कुणाल घोष ने ईडी को भेजा नोटिस, आज होगी पेशी

कोलकाताः पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के मद्देनजर टीएमसी नेताओं पर केंद्रीय एजेंसियों ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। अब टीएमसी नेता कुणाल घोष को आगे पढ़ें »

ऊपर