देश के गृह मंत्री है अपना दायित्व निभाये, बंगाल उनका विषय नहीं

कोलकाता : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बंगाल दौरे पर ममता बनर्जी पर की गयी बयानबाजी के जवाब में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शाह पर कड़ा हमला बोला। ममता ने कहा कि अमित शाह देश के गृह मंत्री है उनके जो दायित्व है वो उनका पालन करें बंगाल में कानून-व्यवस्था उनका विषय नहीं है। वह आग के साथ न खेलें। अमित शाह को भाजपा शासित राज्यों में दंगे और महिलाओं पर हमले नहीं दिखते। उत्तर प्रदेश में क्या हो रहा है मध्य प्रदेश में क्या हो रहा है वो उनको नहीं दिखायी देता है। उन्हें सिर्फ बंगाल दिखता है जबकि बंगाल का कानून उनका विषय नहीं है। ममता ने कहा, गृहमंत्री के रूप में शाह ने सीबीआई को छापेमारी के लिए मजबूर कर दिया है।
शाह का मकसद दंगा करवाना है
ममता के शाह पर आरोप लगाया कि अमित शाह का मकसद दंगा करवाना है। जब भी वो बंगाल आते है यहां भी ऐसा ही करवाने की कोशिश करते है। दूसरे राज्यों में भी इसी तरह का खेल चलता है। उन्होंने ईद के दिन भी लोगों को बधाई नहीं दीं। इसी तरह वो बंटवारे की राजनीति में सक्रिय रहते है। भाजपा रोजाना लड़ रही है, ये शाह को नहीं दिखता है। अमित शाह से पूछो कि दिल्ली, यूपी और एमपी में क्यों नहीं देखते हैं। वह गृह मंत्री है उनका दायित्व है ये देखना।
बंगाल नहीं बंटेगा
ममता ने कहा कि भाजपा को सिर्फ बंटवारे की राजनीति आती है। बंगाल को लेकर जो बंटवारे की बात कर रहे है उन्हें साफ कहती हूं कि बंगाल नहीं बंटेगा। भाजपा अलगाव करना चाहती है। ममता ने बीजेपी और सीपीएम का गठबंधन बताया। ममता ने कहा कि वे दिलों को बांटना चाहते हैं। हिंदुओं और मुसलमानों को बांटना चाहते है। अलीपुरदुआर में राजवंशी से बांग्ला को बांटना चाहते है। उनसे पूछे गृह मंत्री के नाते बंटवारे के अलावा देश में उन्होंने क्या किया है?
सीएए के जवाब में कहा, तो कैसे चुने गये पीएम-सीएम
सीएए लाने के जवाब में ममता ने कड़े शब्दों में कहा कि अगर लोगों को नागरिक नहीं माना जाता है तो उन्होंने वोट कैंसे दिया। उनके वोट से पीएम और सीएम कैसे चुने गये। बंगाल में हर कोई नागरिक है। अमित शाह राजनीतिक चीजें करने की साजिश रच रहे हैं? ऐसा कभी नहीं होगा। शाह आपका कर्तव्य है शांति बन शांति बनाए रखना, न कि राजनीतिक जटिलता बढ़ाते जाना। उन्होंने कहा कि शाह को नागरिक के रूप में सम्मान करती हूं। उन्होंने कहा कि मेरे लिए सीए का मतलब चार्टर अकाउंटेड हैं क्या देश को इसकी जरूरत है ?

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

काजी नज़रुल यूनिवर्सिटी में विद्यार्थियों ने फिर से शुरू किया धरना

आसनसोल: काजी नज़रुल यूनिवर्सिटी में विद्यार्थियों ने फिर से धरना शुरू कर दिया। बता दें कि कल अर्थात शुक्रवार को विद्यार्थियों ने ऑनलाइन परीक्षा लेने आगे पढ़ें »

ऊपर