नाेआपाड़ा स्टेशन पर रुकी मेट्रो पर नहीं खुला गेट, यात्री क्षुब्ध

यांत्रिक त्रुटि है या लापरवाही, होगी जांच
कोलकाता : नोआपाड़ा मेट्रो स्टेशन पर ट्रेन अपने निश्चित समय पर ही पहुंची लेकिन स्टेशन पर आने के बावजूद ट्रेन का गेट ही नहीं खुला, इसके कारण मेट्रो या​त्री क्षुब्ध हो गये। गुस्साए यात्रियों ने मेट्रो रोककर बरानगर स्टेशन पर पहुंचकर धरना दिया, जिससे मेट्रो सेवा अनियमित हो गई। आरोप यह भी है कि कवि सुभाष और दमदम से आखिरी ट्रेन करीब आधे घंटे की देरी से पहुंची थी। मेट्रो सूत्रों के मुताबिक, उस स्टेशन पर कमरे का दरवाजा क्यों नहीं खोला गया, इसकी विभागीय जांच शुरू कर दी गई है। दक्षिणेश्वर जाने वाली एक ट्रेन उस दिन शाम करीब साढ़े सात बजे नोआपाड़ा स्टेशन पहुंची। यह भी दावा किया जाता है कि उस ट्रेन से सैकड़ों यात्री प्लेटफॉर्म से उतरने को तैयार थे और कुछ यात्री उस मेट्रो में सवार होने की प्रतीक्षा कर रहे थे। कथित तौर पर निर्धारित समय पर मेट्रो के स्टेशन पर रुकने के बाद यात्रियों को दरवाजे खुलने का इंतजार करते देखा गया, स्टेशन पर कुछ देर इंतजार करने के बाद ट्रेन सभी यात्रियों को लेकर फिर दक्षिणेश्वर की ओर बढ़ने लगी। इस घटना से घबराए यात्री चिल्लाने लगे। कुछ देर बाद जब ट्रेन बाराहनगर स्टेशन पर पहुंची तो उन्होंने वहां जाकर मेट्रो के कमरे का दरवाजा खोला। इसके बाद यात्री ट्रेन से उतर गए और अप प्लेटफॉर्म पर विरोध करने लगे। मेट्रो और ड्राइवर के क्वार्टरों को अवरुद्ध करने वाले विरोध प्रदर्शनों के कारण सेवाएं अस्थायी रूप से रोक दी गईं। मेट्रो के एक अधिकारी ने कहा कि घटना क्यों और कैसे हुई, यह जानने के लिए हम सभी संबंधितों से बात कर रहे हैं। यह यांत्रिक त्रुटि है या लापरवाही, यह निर्धारित करने के बाद आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

मोदीखाना से लेकर बीरभूम के ‘बादशाह’ तक केष्टो का सफर

रातोंरात नहीं बदली अनुव्रत की किस्मत, करते थे मछली व्यवसाय सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : अनुव्रत मंडल। बीरभूम में नाम ही काफी रहा है। जिले में जिसकी तुती आगे पढ़ें »

ऊपर