कांचरापाड़ा में ही मुकुल राय की पत्नी की अंत्येष्टि

ढांढस बंधाने पहुंचे कई भाजपा नेता मगर स्थानीय तृणमूल नेतृत्व का कोई बड़ा चेहरा नहीं पहुंचा
कांचरापाड़ाः मुकुल राय की पत्नी कृष्णा राय का शव बुधवार की सुबह दमदम हवाई अड्डे से कांचरापाड़ा के 6 नंबर वार्ड के लीचूबगान स्थित उनके आवास पर ले जाया गया। घर के सामने बने अस्थायी मंच पर रखकर तृणमूल के विधायक रह चुके बेटे शुभ्रांशु राय, पालिका प्रशासक सुदामा राय, माखन सिन्हा समेत पार्टी के नेता-कर्मियों ने माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। घर के सामने एवं श्मशान घाट दोनों ही जगहों पर पुलिस का भारी बंदोबस्त था। पार्टी कर्मियों के अलावा करीबी लोगों की भीड़ दोनों ही जगहों पर देखी गई। शववाही गाड़ी से कौफीन में बंद शव को उतारकर शुभ्रांशु राय ने कंधा दिया। उनके घर के सामने पहुंचते ही कोहराम मच गया, छत्त पर खड़े आस-पड़ोस के लोग भी आंसू पोछते हुए नजर आये। पार्थिव शरीर को अस्थायी मंच पर रखा गया। बता दें कि पोस्ट कोविड-19 की समस्या झेल रही कृष्णा राय को बेहतर इलाज के लिए चेन्नई ले जाया गया था जहां डाॅक्टरों ने उनका फेंफड़ा प्रतिस्थापित करने की सलाह दी थी किन्तु उन्हें बचाया नहीं जा सका। करीब डेढ़ घंटे चले श्रद्धांजलि ज्ञापन के बाद पार्थिव शरीर को लेकर लोग हालीशहर श्मशान घाट रवाना हुए जहां धार्मिक रीति से उनकी अंतिम क्रिया सम्पन्न की गई।
दूर के भाजपा नेता पहुंचे पर नहीं दिखे स्थानीय तृणमूल कांग्रेस के नेता
मुकुल राय की पत्नी की अंतिम यात्रा में भी राजनीतिक चर्चाओं की हवा तेज रही। शव पहुंचने के थोड़ी ही देर में पूर्व सिंचाई मंत्री राजीव बनर्जी जो फिलहाल भाजपा के नेता हैं वे मुकुल राय के घर पहुंचे थे। उनके तृणमूल में वापसी के चर्चा के बीच गम की इस घड़ी में आने पर भी राजनीतिक सुगबुगाहट शुरू हो गयी है। पूछने पर राजीव बनर्जी ने कहा कि मुकुल राय से पुराना परिचय है, कृष्णा राय से कई बार मुलाकात हुई है। इससे पहले भी वे कांचरापाड़ा आये हैं। जब वह अस्पताल में भर्ती थीं तब भी देखने गये थे। उधर, भाजपा में शामिल होने वाले नोआपाड़ा के पूर्व तृणमूल विधायक सुनील सिंह भी मुकुल राय के घर पहुंचे। हालांकि उन्होंने इस पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। दूसरी ओर कांचरापाड़ा अथवा हालीशहर का कोई भी बड़ा तृणमूल नेता घर से लेकर श्मशान घाट तक नहीं दिखा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

ब्रेकिंगः बाबुल नहीं छोड़ेंगे सांसद पद

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सोमवार को नयी दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ बैठक के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए आसनसोल आगे पढ़ें »

ऊपर