पुलिस बनकर महानगर में दिनदहाड़े किया व्यवसायी का अपहरण

अपहरणकर्ताओं ने मांगी 1.50 करोड़ की फिरौती
टॉलीगंज इलाके से व्यवसायी का उद्धार, 5 गिरफ्तार
पुलिस ने अपहरण में इस्तेमाल दो वाहनों को किया जब्त
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : पुलिस बनकर महानगर में दिनदहाड़े एक व्यवसायी का अपहरण कर लिया गया। घटना कसबा थानांतर्गत शांतिपल्ली इलाके की है। हालांकि पुलिस की तत्परता से 24 घंटे के अंदर व्यवसायी का उद्धार कर लिया गया। आरोप है कि अपहरणकर्ताओं ने व्यवसायी को रिहा करने के एवज में पहले 1.50 करोड़ रुपये की फिरौती मांगी थी। बाद में फिरौती की रकम 3 लाख पर तय हुई। पुलिस ने मामले की जांच के दौरान 5 अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार किया। इसके साथ ही अपहृत व्यवसायी का टॉलीगंज के घोषपाड़ा स्थित एक किराये के कमरे से उद्धार किया गया। अभियुक्तों के नाम मानस बनर्जी, रंजन चक्रवर्ती, अरिजीत चटर्जी, सरफुद्दीन और अब्दुल हलीम हैं। पुलिस ने अभियुक्तों के पास से दो वाहन भी जब्त किए हैं। पुलिस के अनुसार प्राथमिक जांच में पता चला है कि अपहृत व्यवसायी कुतुबुद्दीन ने अच्छी क्वालिटी का चावल दिलाने के नाम पर अपहरण करने वाले कुछ लोगों से रुपये ठगे थे। इसलिए जब अभियुक्त उसका अपहरण करके ले जा रहे थे तो उसे लगा कि ठगी के शिकार लोग उसे पकड़ने के लिए पुलिस लेकर आए हैं। फिलहाल पुलिस अभियुक्तों और अपहृत व्यवसायी के बयान की जांच कर रही है।
क्या है पूरा मामला
पुलिस के अनुसार कसबा के शांतिपल्ली में ईंट भट्ठा व्यवसायी शेख कुतुबुद्दीन का कार्यालय है। बुधवार की दोपहर वह स्थानीय रेस्तरां से भोजन खरीदकर जब वापस लौट रहा था तभी 10-12 लोगों ने उसका रास्ता रोका और फिर उसे उसके कार्यालय में ले गए। थोड़ी देर बाद सभी लोग कार्यालय से बाहर निकले और उसे कार में बैठाकर अपने साथ ले गए। खुद को पुलिस बताकर अभियुक्तों ने व्यवसायी का अपहरण कर लिया। उनकी कार पर पुलिस का स्टिकर भी लगा था। परिजनों का आरोप है कि व्यवसायी अपने कार्यालय की तरफ आ रहा था, उससे पहले ही उसे जबरन दूसरी कार में बैठाया गया। इसके बाद उक्त कार तेज गति से वहां से निकल गयी। परिजनों के अनुसार इसके बाद दोपहर में उनके पास अपहरणकर्ताओं ने फिरौती के लिए फोन किया। अभियुक्तों ने फिरौती की रकम के तौर पर पहले 1.50 करोड़ रुपये मांगे। रुपये न देने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी। बाद में करीब 15 से 20 बार कुतुबुद्दीन के फोन से अभियुक्तों ने उसके दोस्त रेहान और परिजनों को फोन किया। बाद में फिरौती की रकम 3 लाख तय हुई। अभियुक्तों ने फिरौती की रकम भवानी भवन के सामने लेकर आने के लिए कहा, इस पर व्यवसायी के परिजनों ने कहा कि रात को गेट खुला रहेगा या नहीं, तो उन्होंने कहा कि गुरुवार की सुबह रुपये लेकर आएं। इस बीच व्यवसायी के दोस्त रेहान ने कसबा थाने में शिकायत दर्ज करायी। कसबा इलाके से एक नामी व्यवसायी के अपहरण की घटना सामने आने का बाद कसबा थाना और एआरएस की टीम रात से ही तत्पर हो गयी। ज्वाइंट सीपी क्राइम मुरलीधर शर्मा ने घटनास्थल पर जाकर सीसीटीवी फुटेज की जांच की। करीब 50 सीसीटीवी कैमरे के फुटेज खंगाले गए। अभियुक्तों के वाहन की दिशा को सीसीटीवी कैमरे से देखकर उनके बारे में पु‌लिस ने पता लगाया। इसके बाद पुलिस ने एक कार के मालिक को चिन्हित कर उससे पूछताछ की तो उसने बताया कि अपहृत व्यवसायी को टॉलीगंज के कमरे में रखा गया है। इसके बाद पुलिस ने फर्जी पुलिस ऑफिसर मानस बनर्जी को गिरफ्तार किया। उसकी न‌िशानदेही पर व्यवसायी का उद्धार किया। पुलिस ने जांच के दौरान और तीन लोगों को गिरफ्तार किया। पुलिस के अनुसार मामले में और 5 से 7 लोग फरार हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

न्यू टाउन में इस साल होगी पहली कम्युनिटी दुर्गा पूजा

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : न्यू टाउन इस साल अपनी पहली सामुदायिक दुर्गा पूजा प्राप्त करने के लिए तैयार है। अब तक यहां गेटेड कम्युनिटी ही दुर्गा आगे पढ़ें »

ऊपर