हावड़ा में बंद का दिखा मिलाजुला असर, सड़कें रही सूनीं, लोग निकले कम

 

हावड़ा : वामपंथी संगठनों द्वारा गुरुवार को बुलाये गये बंद का असर हावड़ा में कुछ अलग तरह से दिखाई दिया जहां पर राज्य भर में संगठन की ओर से हिंसक घटनाएं घटीं। वहीं दूसरी ओर हावड़ा ब्रिज, बस स्टैंड, हावड़ा बंगबासी, मालीपांचघड़ा, गोलाबाड़ी आदि इलाकों में लोग न के बराबर नजर आये। हालां​कि हावड़ा डिविजन के रेलवे स्टेशनों पर लोगों की भीड़ देखने को मिली। इसके अलावा स्टेशन के बाहर पीली टैक्सियां भी कम देखी गयी। हावड़ा लांच से भी लोग अपने-अपने ऑफिस जाते हुए दिखाई दिये। इधर नवान्न के कर्मचारियों के लिए अलग से बस परिसेवाएं उपलब्ध करायी गयी थी। इसमें कर्मचारी आसपास के जिलों के साथ हावड़ा से भी उक्त बस में बैठकर अपने कार्यालय पहुंचे। इसके साथ ही एन. एच. 6 व एन. एच. 2 पर भी अवरोध किया गया। इसके कारण वहां पर जाम की स्थिति हो गयी।
रोड पर लोग नजर आये कम
बंद के दिन यानी गुरुवार को रोड पर लोग कम नजर आये। देखा जाये तो ऑफिस जाने वाले व अपने काम में जानेवाले लोग बंद को मानते हुए घर से ही नहीं निकले। ऑफिस समय यानी की सुबह 8 बजे से हावड़ा की मुख्य सड़कों पर वाहन कम चलते हुए दिखाई दिये। इसमें यात्री भी कम थे। रोज हावड़ा ब्रिज पर हजारों वाहन एक बार में आवाजाही करते हैं। वहीं ब्रिज बिल्कुल सुनसान नजर आया। उसमें कुछ एक रूट की बसें नजर आ रही थी। हालांकि हावड़ा बस स्टैंड पर भी बसें भी काफी कम थी। केवल सियालदह, पार्क स्ट्रीट,पाेस्ता व एस्प्लेनेड रूट की बसों को देखा गया। इसमें लोग सीट के अनुसार ही मौजूद थे।
रेलवे स्टेशनों पर लोगों की भीड़
इसके विपरीत हावड़ा व हावड़ा डिविजन के रेलवे स्टेशनों पर भीड़ दिखाई दी। उन्हें कोलकाता व आसपास के जिलों में जाना था। हालांकि वे लोग भी रास्ते भर परेशानियों का सामना करते हुए ही हावड़ा पहुंचें थे। इसके साथ ही हावड़ा के लांच घाट पर भी लोगों की भीड़ नजर आयी जो कि कोलकाता की ओर अपने ऑफिस या कार्यालय की ओर जा रहे थे। लांच घाट के कर्मी के अनुसार बंद का उनके रोजगार पर कोई असर नहीं पड़ा है।
लूडो खेलकर प्रतिवाद
इसके साथ ही एक और अलग तस्वीर दिखी हावड़ा में जहां पर प्रदर्शनकारी लूडो खेलकर प्रदर्शन कर रहे थे। यह दृश्य हावड़ा के दासनगर का था। जहां पर बाजारें व दुकानें तो खुली थीं लेकिन लोग नहीं थे। इधर शानपुर मोड़ पर प्रदर्शनकारी रोड पर बैठकर ही लूडो खेलने लगे। इसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री का पूतला फूंका।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

नंदीग्राम में ममता की सभा में लाखों की भीड़ उमड़ने की उम्मीद

सन्मार्ग संवाददाता खड़गपुर/नंदीग्राम : नये वर्ष के दूसरे सप्ताह से ही तृणमूल सुप्रीमों और राज्य की मुख्यमंत्री जिलों के दौरे पर निकल रहीं हैं और उसकी आगे पढ़ें »

सांसद पड़े नरम, पहुंचे हावड़ा में आयोजित तृणमूल की रैली में

सौगत ने सांसद प्रसून को किया फोन अरूप राय के नेतृत्व में निकाली गयी रैली में प्रसून व भाष्कर भट्टाचार्य राजीव, लक्ष्मीरतन व वैशाली नहीं हुए शामिल हावड़ा आगे पढ़ें »

ऊपर