फेस्टिव सीजन के बीच टेस्टिंग हुई कम

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः कोविड महामारी में शुरुआती दौर से ही हेल्थ एक्सपर्ट टेस्टिंग, ट्रेसिंग व ट्रीटमेंट पर जोर देते रहे हैं। हालांकि देखा जा रहा है कि राज्य में हाल के दिनों में टेस्टिंग अचानक कम हो गई है। इसका एक बड़ा कारण फेस्टिव सीजन को भी माना जा रहा है। बुधवार को एक दिन में 30,018 की टेस्टिंग की गई। वर्तमान समय में राज्य में प्रति मिलियन 2,06,261 की टेस्टिंग हो रही है। अब तक कुल टेस्टिंग का आंकड़ा राज्य में 1,85,63,495 हो चुका है। वैसे टेस्टिंग लैब की भी संख्या बढ़ी है। इस बारे में वेस्ट बंगाल मेडिकल काउंसिल के सदस्य डॉ. पी.के.नेमानी ने कहा कि दरअसल अब वैक्सीनेश की संख्या बढ़ी है। काफी लोग वैक्सीन ले चुके हैं। ऐसे में निश्चित ही कोविड के मामले कम हुए हैं, हालांक‌ि जब तक सभी लोगों को वैक्सीन नहीं लग जाती, हम कोरोना महामारी के समाप्त होने की घोषणा नहीं कर सकते हैं। जरूरत है कि लोग यदि कोविड के लक्षणों से ग्रसित हों तो वह डॉक्टरी परामर्श से कोविड की टेस्टिंग करवाएं। उल्लेखनीय है कि राज्य में टेस्टिंग लैब की संख्या अब 149 हो चुकी है।
राज्य में कुछ टेस्टिंग के आंकड़े
तारीख-टेस्टिंग
18 अक्टूबर-23,019
15 अक्टूबर-21,217
12 अक्टूबर-26,118
11 अक्टूबर-30,018
30 सितंबर-39,4771 अगस्त-43,617
10 जुलाई-52,541
(नोटः आंकड़े स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग)

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष रहे वसीम रिजवी ने ‘घर वापसी’, अपनाया हिंदू धर्म

गाजियाबाद : उत्तर प्रदेश शिया वक्‍फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी ने इस्‍लाम धर्म छोड़कर हिंदू धर्म अपना लिया। सोमवार सुबह उन्होंने डासना देवी आगे पढ़ें »

ऊपर