फोन आया मरीज की मौत, शव लेने पहुंचे तो जीवित मिला मरीज

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः शहर के चित्तरंजन नेशनल मेडिकल कॉलेज व अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगा है। परिवार के सदस्यों का दावा है कि उन्हें अस्पताल से फोन आया कि उनके मरीज की मौत हो गई है। इससे परिवार के लोगों में शोक की लहर थी। मरीज को 11 अप्रैल को सीने में दर्द की शिकायत पर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहीं फोन आने के बाद सुबह परिजन शव लेने अस्पताल पहुंचे। उन्होंने शिकायत की कि अस्पताल के अधिकारियों ने उन्हें बताया कि शव नहीं दिया जा सकता, क्योंकि उनके मरीज की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।
परिजन को देख मरीज ने बिल्डिंग के ऊपर से दी आवाज
इस बीच, मरीज ने अचानक अस्पताल की इमारत के ऊपर से परिजनों को देखा और एक रिश्तेदार को देखकर आवाज दी। इसे देख परिवार हैरान था। घर के लोग समझ रहे थे कि मरीज की मौत हो चुकी है। वहीं जीवित मरीज को देखकर सबकी आंखें छलक आईं। वे पूरी घटना से स्तब्ध थे। वे फिर से अस्पताल के अधिकारियों के पास गए। कथित तौर पर फिर उन्हें बताया गया कि यह उनकी ‘गलती’ थी। जानकारी के मुताबिक साबिर मोल्ला नाम के मरीज को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और वह घर लौट आया है। अस्पताल के अधिकारियों ने कहा कि पूरी घटना की जांच की जाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दो श्मशान और एक कब्रिस्तान बना रही है कोलकाता नगर निगम

कोविड शवों की बढ़ती संख्या बढ़ा रही है प्रशासन की परेशानी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे है। इस आगे पढ़ें »

पत्नी ने ससुराल जाने से किया इनकार, हताश पति ने खुद को चाकू से गोदा

नदियाः पत्नी के विरह में पागल दिलीप दास (40) के साथ उसकी पत्नी ने ससुराल जाने से इनकार कर दिया। इस बात से दुःखी दिलीप आगे पढ़ें »

ऊपर