टेट मामले में नये तरीके से छानबीन करने के लिए टीम ने शुरू की तैयारी

सिट के गठन के साथ ही उच्च स्तरीय बैठक हुई सीबीआई कार्यालय में
अब तक की हुई छानबीन की हुई समीक्षा
जल्द कार्रवाई शुरू होगी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : टेट मामले में भ्रष्टाचार को लेकर शुक्रवार को सीबीआई की टीम ने उच्च स्तरीय बैठक की। इस बैठक में दिल्ली के अधिकारियों के साथ कोलकाता के अधिकारियों ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये समीक्षा बैठक की। उल्लेखनीय है कि हाई कोर्ट ने सीबीआई को यह आदेश दिया था कि अब सभी टेट से जुड़े भ्रष्टाचार मामले की जांच एक कमेटी के अंतर्गत हो, इसके लिए स्पेशल इंवेस्टिगेटिंग टीम का गठन किया जाए। हाई कोर्ट के आदेशानुसार सीबीआई के संयुक्त निदेशक एन वेणुगोपाल ने इस सिट का गठन किया है। इसें एडिशनल एसपी धर्मवीर सिंह, डीएसपी सत्येंद्र सिंह और इंस्पेक्टर के सी रिशिरियामल, सोमनाथ विश्वास, मलय दास एवं इमरान आशिया को शामिल किया गया है। वहीं ​सिट के कार्यों का पर्यवेक्षण एन वेणुगोपाल करेंगे। वहीं अधिकारी राजीव मिश्रा इसकी निगरानी करेंगे।
एसएससी से जुड़े सभी मामलों में कार्रवाई अब सिर्फ सिट के अधिकारी करेंगे
एसएससी से जुड़े सभी मामलों में कार्रवाई अब सिर्फ सिट के अधिकारी करेंगे। इस टीम की जिम्मेदारी होगी कि फार्स्ट ट्रैक की तरह इन मामलों में कार्रवाई करे और उनकी रिपोर्ट हाई कोर्ट को सौंप दे। ऐसे में ये जिन नेताओं को तलब कर रहे हैं, अगर वे समय पर नहीं आते हैं, तो ऐसे में हाई कोर्ट को ही उन्हें बुलाने के लिए बाध्य करना पड़ेगा। पहले भी देखा गया है कि चाहे वह पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी हों या राज्य के शिक्षा राज्य मंत्री परेश अधिकारी हाई कोर्ट के निर्देश के बाद उन्हें सीबीआई के समक्ष पेश होना पड़ा था। इसके तहत सीबीआई के अधिकारी 9वीं, 10वीं तथा 11वीं व 12वीं के लिए​ शिक्षकों की भर्ती में मामले में हुए घोटालों की छानबीन करेंगे। सूत्रों का कहना है कि इसकी छानबीन की जानकारी इससे जुड़े अधिकारियों को है लेकिन जिनको नया इसमें लाया गया है, उन्हें भी इसकी ब्रिफिंग जरूरी है। वहीं हाल में ही वेणुगोपाल ने कोलकाता जोन की एंटी करप्शन टीम की ​जिम्मेदारी संभाली है, ऐसे में उन्हें सभी मामलों की रिपोर्ट देखनी पड़ रही है। यहां बताते चलें कि जब से उन्होंने कार्यालय संभाला है, लगातार बैठकें हो रही हैं। ज्ञात हो कि हाई कोर्ट ने सीबीआई को इस मामले में छानबीन की धीमी गति के लिए फटकार लगायी थी। इसके बाद से सीबीआई की टीम की ओर से छापामारी व एसएससी से जुड़े अधिकारियों से गत गुरुवार से पूछताछ की गयी थी। सूत्र बताते हैं कि सोमवार से सीबीआई की टीम इस मामले में बड़ी कार्रवाई कर सकती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पलंग के नीचे नहीं रखनी चाहिए ये चीजें, जीवन में पड़ता हैं बुरा असर

कोलकाता : आपके घर की बरकत और घरवालों की सेहत का सीधा संबंध घर के वास्तु से होता हैं। जी हां, वास्तु में कई नियम आगे पढ़ें »

ऊपर