टेट जैसी दुर्नीति कहीं नहीं हुई : शुभेंदु

कोलकाता : एसएससी की भूमिका पर हाई कोर्ट द्वारा कहा गया है कि सीबीआई से इसकी जांच करायी जानी चाहिये, इस पर विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि टेट में बड़ी दुर्नीति हुई जो कहीं और नहीं हुई है। बगैर टेट परीक्षा में बैठे ही लोगों को नौकरी मिली, 17 लोगों ने इसे स्वीकार भी किया है। इसमें केवल नियोग कमिशन को पकड़ने पर नहीं होगा। नियोग कमिशन ने जिसके निर्देश पर किया यानी मंत्री व मंत्री ने जिसके निर्देश पर किया, सबको सामने लाना होगा और ओमप्रकाश चौटाला की तरह इनका आश्रय स्थान जेल होना चाहिये। नंदीग्राम मामले में शुभेंदु ने कहा कि ममता बनर्जी को हराने के कारण मेरे खिलाफ उन्होंने कई मामले करवाये, मुझे सिंगल बेंच में प्रोटेक्शन मिला। इसके बावजूद सरकार को लगा दिया और डिविजन बेंच में अपील की, लेकिन मैं काेर्ट पर पूरा भरोसा करता हूं। कोर्ट ने सिंगल बेंच की राय बहाल रखते हुए राज्य सरकार की अपील खारिज कर दी। मेरा एकमात्र अपराध था कि नंदीग्राम में मैंने ममता बनर्जी को हराया, मेरे खिलाफ डिविजन बेंच में जो सुप्रीम कोर्ट में वकील लगाये गये, उसमें कितना खर्च हुआ, ये जानने के लिए मैं आरटीआई करूंगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

वार्ड 86 के उम्मीदवार के लिए प्रचार नहीं करना चाहते स्थानीय भाजपा नेता

वार्ड नं. 86 के भाजपा उम्मीदवार राजर्षि लाहिड़ी के समर्थन में वार्ड के ही रहने वाले स्थानीय भाजपा नेता राजकमल पाठक चुनाव प्रचार नहीं करना आगे पढ़ें »

वीडियो कॉल कर युवक ने लगायी पुल से छलांग

कोविड से ठीक हो चुके लोगों को ओमिक्रॉन से कितना खतरा? जानिए क्या कहते हैं विशेषज्ञ

विक्की कौशल ने बताया, कैसी पत्नी चाहते हैं वे? सुनकर कैटरीना के फैन्स हो जायेंगे खुश

…और गोवा में तृणमूल को मिल गया साथ

सर्दियों में सेक्स क्यों है ज्यादा मजेदार, जानें?

सिहरन पैदा करनेवाली ऑनर किलिंग : महाराष्ट्र के औरंगाबाद में गर्भवती बहन का सिर धड़ से किया अलग, फिर भाई पहुंचा थाने

गर्भ में ही 7 महीने का बच्चा खो चुकीं बिंदू, इस हादसे के बाद दोबारा कभी मां नहीं बन…

आईसीसी रैंकिंग में नंबर-1 बना भारत

नागालैंड की घटना पर एक्शन में सेना, जांच के लिए गठित की कोर्ट ऑफ इंक्वायरी

ऊपर