कोरोना की वजह से तमलुक अदालत 2 मई तक बंद

दूसरी लहर में 2500 से ज्यादा लोग जिले में संक्रमित
सन्मार्ग संवाददाता
खड़गपुर : कोरोना संकट के कारण पूर्व मिदनापुर जिला अंतर्गत तमलुक अदालत को 2 मई तक बंद कर दिया गया है। जिले में इस वर्ष 2500 से भी ज्यादा लोगों में कोरोना का संक्रमण मिल चुका है, तमलुक शहर में भी काफी लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं। अभी हाल ही में जिले के कांथी उप संशोधनागार में भी कैद कई विचाराधीन बंदियों में कोरोना का संक्रमण मिलने की खबरे आई थी। इधर, तमलुक टाउन समेत जिले भर में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अब तमलुक स्थित जिला अदालत को भी 2 मई तक बंद किए जाने की घोषणा प्रशासन की ओर से कर दी गयी है। जानकारी मिली कि तमलुक कोर्ट के कर्मियों, अधिवक्ताओं व क्लर्क में से कुछ लोग कोरोना संक्रमित हो गये हैं जिसके बाद सोमवार को पूर्व मिदनापुर डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएसन एंव पूर्व मिदनापुर डिस्ट्रिक्ट सिविल बार एसोसिएसन ने मिलकर एक बैठक की और उस बैठक के बाद ही फैसला किया गया कि 27 अप्रैल से लेकर 2 मई तक कोर्ट बंद रहेगा। तमलुक अदालत में भी विभिन्न मामलों को लेकर हर दिन सैकड़ों लोग यहां आते हैं। कोरोना से बचाव के लिए प्रशासन की ओर से अब और भी ज्यादा सख्त रवैया अख्तियार किया जा रहा है। बगैर मॉस्क के घूमने वाले सैकड़ों लोगों के खिलाफ पूर्व मिदनापुर जिले में भी पुलिस की ओर से गिरफ्तार कर प्राकृतिक आपदा अधिनियम के तहत मामला नामजद किया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अस्पतालों में नहीं मिल रहे हैं डोम

युद्धस्तर पर हो रही हैं नियुक्तियां सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस के सेकेंड वेव ने स्वास्थ्य परिसेवा की स्थिति खराब सी कर दी है। आलम आगे पढ़ें »

दो श्मशान और एक कब्रिस्तान बना रही है कोलकाता नगर निगम

कोविड शवों की बढ़ती संख्या बढ़ा रही है प्रशासन की परेशानी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे है। इस आगे पढ़ें »

ऊपर