9 महीने बाद खुल सकता है टाला ब्रिज

ब्रिज का आधा निर्माण कार्य हुआ पूरा
विधायक ने लिया निर्माण कार्य का जायजा
कोलकाता : अब मात्र 9 महीने बाद निर्माणाधीन 4 लेन वाला टाला ब्रिज खुल जाएगा। माझेरहाट ब्रिज के तर्ज पर ही टाला ब्रिज को भी 365 करोड़ रुपये खर्च कर केबल स्टेड रेल ओवर ब्रिज के तौर पर तैयार किया जा रहा है। अभी तक ब्रिज का निर्माण कार्य आधा पूरा हो गया है। रेल के ऊपर वाले हिस्से को छोड़कर दोनों साइड के रैंप के न‌िर्माण कार्य को दायित्व प्राप्त इंजीनियरों ने पूराकर लिया है। पुराने टाला ब्रिज में रेलवे लाइन के बीच में पिलर था। हालांकि इस बार लाइन के ऊपर का 240 मीटर वाला स्लैब का हिस्सा पूरी तरह केबल के ऊपर झुलेगा। शनिवार को इंजीनियरों के साथ ब्रिज के निर्माण कार्य का जायजा लेने के लिए केएमसी के पूर्व डिप्टी मेयर व स्थानीय विधायक अतिन घोष पहुंचे थे। बाद में पीडब्ल्यूडी विभाग और दायित्व प्राप्त कंपनी के इंजीनियरों के साथ निर्माण के आगे कार्य को लेकर जायजा लिया। अतिन घोष ने बताया कि ट्रेन लाइन के ऊपर के हिस्से के निर्माण के लिए रेल की तरफ से अनुमति मिलने के बाद काम चालू हो जाएगा। इंजीनियरों ने आश्वासन दिया है कि नये टाला ब्रिज के निर्माण का काम फरवरी 2022 तक पूरा हो जाएगा। काम पूरा होने पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ही इसका उद्घाटन करेगी। यहां उल्लेखनीय है कि माझेरहाट ब्रिज टूटने के बाद राइट्स की सिफारिश के बाद 1963में चालू हुए टाला ब्रिज को नए तरीके से निर्माण का काम चालू हुआ। गत 31 जनवरी 2020 की रात ब्रिज तोड़ने का काम चालू हुआ। 610 मीटर वाले नये टाला ब्रिज के प्लान को रेलवे ने दिसंबर में अनुमोदन दिया था। टाला सेतू के परिदर्शन पर गये विशेषज्ञों को पता चला कि पलता से टाला वॉटर टैंक में तीन बड़े पाइप लाइन आने को लेकर जटिलता बरकरार है। अभी तक उस पाइप लाइन के लिए रेल की तरफ से पृथक पतला ब्रिज बनाने का ग्रीन सिग्नल नहीं मिला है। हालाकि उस पानी के पाइपलाइन के विकल्प रूट का प्लान तैयार कर लिया गया है। उस प्लान को अनुमति मिलने के बाद पाइप लाइन के निर्माण के सात ब्रिज के निर्माण का काम चालू हो जाएगा। सूत्रों के अनुसार इस साल दिसंबर महीने में टाला ब्रिज के झुलने वाले अंश का लोड टेस्ट‌िंग विशेषज्ञ करेंगे। क्योंकि ब्रिज के नीचे ट्रेन गुजरेगी इसलिए रेलवे सेेफ्टी कमिशन सहित अन्य एजेंसियों की अनुमति जरूरी है। पिछले ब्रिज का वजन वहन की क्षमता 165 टन थी थी। इस बार ब्रिज की वहन क्षमता 385 टन किया जा रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बादुडिया में दामाद ने कर दी सास की हत्या, हुआ गिरफ्तार

मायके से लौटना नहीं चाहती थी पत्नी सन्मार्ग संवाददाता बशीरहाट : मायके से लौटना नहीं चाहती थी पत्नी इस कारण पति ने सास की चाकू घोंप कर आगे पढ़ें »

ऊपर