अम्फान के अनुभव से सबक लेते हुए सीईएससी ने की तैयारी

सीईएससी के कंट्राेल रूम का नं. : 1912
सीईएससी के कुल ग्राहक – 34 लाख, 80% अंडरग्राउंड वायर
100 से अधिक जनरेटरों की व्यवस्था, बढ़ाया गया मैनपावर
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : अम्फान के अनुभवों से सबक लेते हुए सीईएससी ने यास को लेकर तैयारियां पूरी कर ली हैं। इस बार सीईएससी की ओर से अपनी टीम की संख्या दुगुनी से भी अधिक बढ़ायी गयी है ताकि सीईएससी के 34 लाख ग्राहकों को पिछली बार अम्फान जैसी परेशानी ना झेलनी पड़े। इस बारे में सीईएससी के वाइस प्रेसिडेंट (डिस्ट्रिब्यूशन) अभिजीत घोष ने सन्मार्ग को बताया, ” हमारे 80% तार अंडरग्राउड हैं, केवल 20% ओवरहेड वायर हैं ​जिन पर पिछली बार अम्फान के समय पेड़ों के​ गिरने से काफी नुकसान हुआ था। समय पर पेड़ों को नहीं हटाये जाने के कारण ओवरहेड वायर को ठीक करने में काफी समय लगा था जिस कारण ग्राहकों को भी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था। हालांकि इस बार कोलकाता नगर निगम समेत संबंधित विभाग के सभी अधिकारियों के साथ लगातार सामंजस्य बनाकर काम किया जा रहा है। तूफान के बाद पेड़ों को जल्द से जल्द हटाना जरूरी है ताकि पुनरुद्धार का कार्य जल्द चालू किया जा सके। सीईएससी का काम बिजली आपूर्ति ठीक करना है, लेकिन पेड़ों को हटाये बगैर सीईएससी अपना काम नहीं कर पायेगा और पेड़ों को हटाने की ​जिम्मेदारी जिनकी है, उन्हें जल्द से जल्द पेड़ हटाने होंगे।”
दुगुनी से भी अधिक बढ़ायी गयी टीमें
अ​भिजीत घोष ने बताया कि पिछली बार अम्फान के समय लॉकडाउन था और उस समय सीईएससी के अधिकतर कर्मचारी छुट्टी पर चले गये थे। हालांकि इस बार सब यही हैं जिस कारण मैन पावर में कोई कमी नहीं होगी। उन्होंने बताया कि हमने अपनी टीमें दुगुनी से भी अ​धिक बढ़ायी हैं। अतिरिक्त टीमों की व्यवस्था भी की गयी है। एक टीम में 6 से 8 सदस्य होते हैं। इस बार बद से बदतर हालातों को समझते हुए हमने तैयारी की है।
अस्पतालों और ड्रेनेज स्टेशनों के लिए की गयी अतिरिक्त व्यवस्था
सीईएससी की ओर से बताया गया कि अस्पतालों और ड्रेनेज स्टेशनों के लिए अतिरिक्त व्यवस्था की गयी है ताकि वहां सप्लाई किसी हाल में बाधित ना हो। 100 से अधिक जनरेटरों की व्यवस्था भी की गयी है। अस्पतालों की ओर से अपनी व्यवस्था तो की गयी ही है, इसके अलावा वैकल्पिक व्यवस्था भी सीईएससी द्वारा की गयी है ताकि एक सप्लाई बंद होने पर दूसरी चंद मिनटों में चालू हो जाए। अतिरिक्त सप्लाई प्वाइंट पर इसके लिए डीजी सेट की व्यवस्था की गयी है।
सभी छुट्टियां की गयी रद्द, कार्यालय रहेंगे खुले
चक्रवात यास को देखते हुए सीईएससी की सभी छुट्टियां रद्द कर दी गयी हैं। इसके अलावा सीईएससी के सभी कार्यालय भी खुले रहेंगे। सीईएससी द्वारा अपने ग्राहकों को मेसेज भेज कर अलर्ट किया जा रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

साल्टलेक सेक्टर-5 स्टेशन का भी निजीकरण

अब बंधन बैंक का लगा स्टेशन पर नाम कोलकाताः मेट्रो रेलवे की ओर से कई स्टेशनों को निजीकरण किए जाने की पहल पहले ही गई है। आगे पढ़ें »

महिला को डायन करार देकर पीटने का आरोप

मिदनापुर: पश्चिम मिदनापुर जिले के जंगलमहल इलाके में एक बार फिर से एक महिला को डायन करार देते हुए उसे बुरी तरह से पीटे जाने आगे पढ़ें »

ऊपर